Published On : Fri, Jun 2nd, 2017

विपक्ष पर आरोप लगाने से पहले मुख्यमंत्री करे आत्मचिंतन – अशोक चौहान

Advertisement
Ashok-Chavan

File Pic


मुंबई/नागपुर
: राज्य में शुरू किसान आंदोलन के पीछे कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस का हाँथ होने का आरोप मुख्यमंत्री ने लगाया है इसके जवाब में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री से ऐसे आरोप लगाने की बजाय आत्मचिंतन करने की सलाह दी है। गुरुवार को मुंबई में प्रेस को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहाँ था की विपक्षी दलों द्वारा निकली गयी संघर्ष यात्रा असफल रही इसलिए विरोधी अब किसानों का सहारा ले रहे है। इस आरोप का जवाब देते हुए कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और सांसद अशोक चौहान ने कहाँ की मुख्यमंत्री ऐसे आरोप लगाकर किसानों के सवालों पर अपनी नैतिकता साबित कर दी है।

कांग्रेस ने साफ किया है की उसका इस आंदोलन से कोई लेना देना नहीं है पर इस आंदोलन को समर्थन जरूर है। राज्य सरकार की नीतियों की वजह से किसान हलाकान हो चुका है। किसानो की वर्तमान स्थिति को देखते हुए उसकी संपूर्ण कर्जमुक्ति के सिवाय दूसरा कोई चारा नहीं है। अशोक चौहान के मुताबिक उनकी पार्टी किसानों के लिए संपूर्ण कर्जमाफी के लिए विधिमंडल के साथ ही सड़क पर लगातार आवाज़ उठाती आयी है। पर सरकार ने इस माँग की ओर ध्यान नहीं दिया इसी लिए किसानों को आंदोलन पर जाना पड़ा है। विपक्षी दलों के असफ़ल होने वाले मुख्यमंत्री के बयान पर चौहान ने कहाँ की इस यात्रा की वजह से सरकार की ज़मीन खिसक चुकी है।

वही दूसरी तरफ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राधकृष्ण विखे पाटिल ने कोपरगाँव में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की घटना का निषेध किया है। इसी जगह आंदोलन में शामिल अशोक शंकर मोरे नामक किसान की मौत हो गयी थी। आंदोलन के दौरान किसान की मौत को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। पाटिल के अनुसार राज्य का किसान अपनी माँग को लेकर आक्रोशित है अगर सरकार ने जल्द किसानों की माँगो पर फैसला नहीं लिया तो गुस्सा सड़क पर उतरेगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement