Published On : Wed, Mar 28th, 2018

कैम्ब्रिज एनालिटिका मामले में एक और दावा, ‘कांग्रेस को हराने के लिए दिये गए थे पैसे’

नई दिल्ली: फेसबुक से डेटा चोरी के आरोपों से घिरी ब्रिटिश कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका से कांग्रेस के संबंधों को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग जारी है। इस बीच एक और नया दावा किया जा रहा है।

ब्रिटेन की संसदीय समिति के सामने पर्सनलडेटा डॉट आईओ के सह- संस्थापक पॉल ओलिवियर देहया ने कहा कि उसने ऐसी खबर सुनी थी कि 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को हराने के लिए पैसे दिये गये थे।

देहया के इस बयान के बाद कांग्रेस को भी भाजपा पर हमला करने का मौका मिल गया। कांग्रेस के प्रवक्ता आरएस सुरजेवाला ने इस पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को सफाई देने को भी कहा। सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि रवि शंकर प्रसाद जी यह भूल गए कि हाउस ऑफ कॉमंस में एक सांसद ने उसी व्यक्ति से खड़े होकर यह पुछा कि कैम्ब्रिज एनालिटिका किस प्रकार से कांग्रेस के खिलाफ एक षड्यंत्र कर रही थी और एक एनआरआई उसको पैसे दे रहा था।


उन्होंने कहा कि इसके बारे में भी कानून मंत्री अब सफाई देने से पूरी तरह से बच गए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पॉल ओलिवियर देहया ने कहा कि उसने ऐसी खबर सुनी थी कि 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को हराने के लिए पैसे दिये गये थे। उनके अनुसार, ”ब्रिटिश कंपनी की ओर से भारत में काम कर रहे डॉन मुरेसन को एक भारतीय अरबपति ने पैसे दिये थे, जो चाहते थे कि कांग्रेस चुनाव हार जाए।”

रणदीप सुरजेवाला ने इस पूरे मामले को ध्यान भटकाने वाला बताया। उन्होंने कहा कि देश के सामने गंभीर समस्याएं है, भाजपा ने तो चुनाव आयोग की डेट भी चोरी कर ली और डाटा तो इस देश का हर रोज़ चोरी हो रहा है वह “आधार” हो या नमो ऐप हो! तो इसलिए ध्यान मत भटकाइये,जवाब दीजिये, क्या आपको इस देश के खुद के नागरिक अवनीश राय पर विश्वास नहीं?

बता दें कि कैम्ब्रिज एनेलिटिका को कांग्रेस के खिलाफ काम करने के लिए पैसे देने की बात का दावा भारत में कैंब्रिज एनालिटिका की साझेदार कंपनी ओबीआई के एक कर्मचारी ने अविनाश राय ने भी किया है।

इससे पहले डेटा लीक मामले का खुलासा कर चौंकाने वाले विसलब्लोअर क्रिस्टोफर विली ने मंगलवार को दावा किया है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका की क्लाइंट कांग्रेस पार्टी भी थी। खुलासे के फौरन बाद भाजपा कांग्रेस पर हमलावर हो गई है और कांग्रेस को माफी मांगने के लिए कह रही है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस को झूठ बोलने के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। क्रिस्टोफर विली ने हाउस ऑफ कामंस की डिजिटल, सांस्कृतिक, मीडिया और खेल समिति के सामने अपनी गवाही दी। अपने बयान में विली ने दावा किया, “मैं मानता हूं कि कांग्रेस कंपनी का क्लाइंट थी, लेकिन मुझे पता है कि वे सभी प्रकार के प्रॉजेक्ट लेते थे। मुझे कोई राष्ट्रीय प्रॉजेक्ट याद नहीं है, लेकिन मुझे क्षेत्रीय प्रॉजेक्ट याद हैं। भारत इतना बड़ा देश है कि वहां का एक राज्य भी ब्रिटेन से बड़ा है।”