Published On : Thu, Mar 18th, 2021

कोविड वैक्सीन लेने के लिये जनजागृती हेतु चेंबर द्वारा कार्यक्रम का आयोजन

दि. 13 मार्च 2021 को चेंबर द्वारा कोविड वैक्सीन लेने के लिये जनजागृती करने हेतु फेसबुक लाइव पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में नागपुर के सुप्रसिद्ध डाॅ. निर्मलजी जैस्वाल एवं डाॅ. प्रमोदजी मुंदडा ने कोविड वैक्सीन लगाने हेतु व्यापारियों का मार्गदर्शन किया।

अध्यक्ष श्री अश्विन मेहाड़िया ने कार्यक्रम की प्रस्तावना देते हुये कहा कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिये सभी के लिये जितना कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है उतना ही कोविड वैक्सीन लेना भी अनिवार्य है। वर्तमान में कई तरह की भ्रांतियां फैलाई जा रही है कि वैक्सीन लेने के बाद गंभीर शारीरिक परेशानी हो सकती है। जिसके कारण अधिकांश लोग वैक्सीन लेने से हिचकिचा रहे है। वैक्सीन संबंधी भ्रम को दुर करने के लिये नागपुर के सुप्रसिद्ध डाॅ. निर्मलजी जैस्वाल एवं डाॅ. प्रमोदजी मुंदडा के सहयोग से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

डाॅ. निर्मलजी जैस्वाल ने अपने मार्गदर्शन में कहा कि किसी भी महामारी के लिये कम से कम 7 से 8 वर्षों के रिसर्च के बाद ही सफल वैक्सीन या दवा मिल पाती है। विश्व के सभी वैज्ञानिकों ने कोरोना महामारी के खिलाफ 9 से 10 माह के अंदर ही रिसर्च कर वैक्सीन उपलब्ध कराई है। भारत में उपलब्ध कोविड वैक्सीन भी कोरोना विषाणु को पुरी तरह से खत्म करने के साथ-साथ मरीज में मजबुत प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण करता है। व्यक्ति में पूर्ण प्रतिरोधक क्षमता होने के लिये 28 दिनों के अंतराल में दो डोज लेना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल गलत है कि वैक्सीन लेने वाले व्यक्ति को कोई भी गंभीर शारीरिक परेशानी होती है। जबकि कोविड वैक्सीन लेने के पश्चात् किसी-किसी को थोड़ा बुखार आना या हाथ-पैर में थोड़ा दर्द होना, सामान्य लक्षण है। जो कि अन्य वैक्सीन लेने के बाद भी होते है।

डाॅ. प्रमोदजी मुंदडा ने कहा कि वर्तमान में भारत में पुनः कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है जिसमें आज के समय में नागपुर शहर में अत्याधिक संक्रमित है। अतः सभी ने कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करने के साथ जल्द से जल्द नियमों के तहत वैक्सीन लेना चाहिये। वैक्सीन लेते समय डाॅक्टर एवं मरीज दोनो ने ठीक तरह से मास्क लगना चाहिये तथा जिस स्थान पर वैक्सीन दी जा रही वहां सफाई का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिये तथा वैक्सीन लेने वाले ने डाॅक्टर को अपनी सभी बीमारियों की जानकारी देना चाहिये।

वैक्सीन का पहला डोज लेने के बाद प्रतिरोधक क्षमता निर्माण होने में समय लगता है अतः वैक्सीन लेने के बाद भी हमेशा मास्क पहनना, नियमित सैनेटाइजर का उपयोग करना तथा फिजिकल एवं सोशल डिस्टिेशिंग बनाये रखना चाहिये तथा दुसरा डोज समय पर लेना है तथा दुसरे डोज के बाद भी कोविड नियमों का पालन करते रहना है तभी कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। जितने ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन लेंगे कोरोना संक्रमण उतना कम फैलेगा।

डाॅ. निर्मलजी जैस्वाल एवं डाॅ. प्रमोदजी मुंदडा ने सभी के सवालों का जवाब सरल भाषा में सहजता के साथ दिया।

कार्यक्रम का संचालन व अतिथियों का परिचय सचिव श्री रामअवतार तोतला ने दिया। आभार प्रदर्शन सहसचिव श्री उमेश पटेल ने किया। सभी व्यापारियों ने बड़ी मात्रा में फेसबुक लाइव पर कार्यक्रम का लाभ लिया।

उपरोक्त प्रेस विज्ञप्ति द्वारा कोषाध्यक्ष श्री सचिन पुनियानी ने दी।