Published On : Mon, Nov 2nd, 2020

CBSE स्कूले कर रही है नियमों का उल्लंघन : सीनेट सदस्य प्रवीण उदापूरे

नागपुर– CBSE स्कूलों को लेकर शिक्षा बचाओ आंदोलन की ओर से लगातार फ़ीस को लेकर विरोध किया जा रहा है. नागपुर यूनिवर्सिटी के सीनेट सदस्य व् शिक्षा बचाओ आंदोलक प्रवीण उदापूरे CBSE स्कूलो से संबंधित 3 प्रमूख मांगे रखी है. CBSE प्रशासन दिल्ली, राज्य शासन कानून, आदेश, नीर्देश एवं शिक्षणाधिकारी के 26 जून 2020 के आदेशानूसार.

स्कूल मे (ZP द्वारा शैक्षीक योग्यता की जांच कर ) मान्यता प्राप्त शिक्षक और प्रिंसिपल की नियुक्ती, स्कूल मे शुल्क निर्धारन समिती PTA की स्थापना. ( शासन आदेशानुसार यह पालक-शिक्षक समिती स्कूल की हर वर्ष की फीस तय करती है. किसी भी स्कूल म्यानेजमेंट को फीस तय करने का अधिकार नही है. ) NCERT की किताबे कक्षा 1 से 12 तक लागू करना. ( अबतक नियमो का भंग कर स्कूल मे 12 से 15 गूणा प्रोफीट कमाने के लिये फर्जी अवैध गाईड छात्रो को बेच कर उनके भविष्य से खिलवाड किया गया.)

विगत कई वर्ष से इन नियमो को भंग कर रहे स्कूल संचालको पर कार्रवाई करने, आर्थिक अपराध की छानबीन करने, दोषीयो पर मूकदमे दर्ज करने , शासन द्वारा स्कूलो पर प्रशासक की नियुक्ती करना. आज तक वसूली गयी फीस पालको को वापस करने. आज तक जारी की गयी फर्जी TC के मामले मे सरकार को उचित निर्णय लेने हेतू बाध्य करने की मांग प्रवीण उदापूरे ने सरकार से की है.