Published On : Sat, Apr 19th, 2014

अहेरी: कार पलटी, एक घायल

गंभीर अवस्था में चंद्रपुर भेजा, पीड़ित हैं अहेरी उपविभागीय कार्यालय के लिपिक 

Accident-1अहेरी.

अहेरी उपविभागीय कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक दोषांत कोवे आज सुबह एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से जख्मी हो गए. उन्हें अहेरी के अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद इलाज के लिए चंद्रपुर भेजा गया है, जहां एक निजी अस्पताल में उनका इलाज जारी है. दुर्घटना के समय कोवे गढ़चिरोली से अहेरी आ रहे थे.

Accident-2

प्राप्त जानकारी के अनुसार दोषांत कोवे का परिवार गढ़चिरोली में रहता है. श्री कोवे छुट्टी के दिन अहेरी से गढ़चिरोली चले जाते हैं. उसी तरह 18 अप्रैल को छुट्टी होने के कारण वे अहेरी चले गए थे. शनिवार की सुबह 7 बजे वे गढ़चिरोली से अहेरी के लिए निकले. वे अपनी कार से आ रहे थे. सुबह करीब 8 बजे के आसपास ग्राम बोरी के निकट उनकी कार का सामने का टायर फट गया, जिससे कार पर से उनका नियंत्रण छूट गया और गाड़ी चार-पांच पलटी खाते हुए जंगल में घुस गई. गाड़ी एक पेड़ से टकराने के बाद ही रुकी. इस दुर्घटना में वे गंभीर रूप से घायल हो गए. कार का सामने का हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया. कार कोवे स्वयं चला रहे थे.

बेबस ग्रामीण 

दुर्घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे, लेकिन खून से सने कोवे को उठाने की हिम्मत कोई नहीं दिखा पाया. उनकी नाक और मुंह से लगातार खून बह रहा था. इसी बीच ग्राम बोरी के होमगार्ड सोहेल खान पठान वहां पहुंचे और अपने एक होमगार्ड साथी कबीर सैयद की सहायता से कोवे को एक ऑटो रिक्शा में लेकर अहेरी के उप जिला अस्पताल पहुंचे.

निजी अस्पताल में इलाज जारी 

इस बीच घटना की जानकारी मिलते ही तालुका कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष महबूब अली ने घटना की जानकारी मेडिकल अधीक्षक डॉ. कन्ना मडावी, तहसीलदार और राजस्व विभाग के अन्य अधिकारियों को दी. अस्पताल में उनका उपचार शुरू हुआ, मगर हालत बिगड़ते जाने के कारण कोवे को इलाज के लिए चंद्रपुर भेजा गया. वहां एक निजी अस्पताल में उनका उपचार जारी है.

होमगार्ड सोहेल खान पठान की सराहना 

आलापल्ली-चंद्रपुर मार्ग बेहद व्यस्त है और इस रोड पर हमेश दुर्घटनाएं होती रहती हैं. पिछले 6 माह के भीतर बोरी और उसके एक किलोमीटर के क्षेत्र में अनेक दुर्घटनाएं हो चुकी हैं. इन दुर्घटनाओं में घायल अनेक लोगों को अहेरी के अस्पताल पहुंचाकर उनकी जान बचाने का काम होमगार्ड सोहेल खान पठान कर चुके हैं. इसी महीने हमले में घायल कपास व्यापारी को भी उन्होंने ही अस्पताल पहुंचाया था. पठान की इस सेवा पर उनकी सर्वत्र सराहना की जा रही है.