Published On : Tue, Dec 23rd, 2014

बुलढाणा : राजे लखूजीराव के रजवाड़े से तोप गायब

 

  • पुरातत्व विभाग में मचा हड़कम्प
  • पंचधातु से निर्मित ८५ किलो वजनी तोप आडगाँव के रजवाड़े से लायी गयी थी
  • अज्ञात चोरों की तलाशने की माँग

Tof
बुलढाणा। तीर्थ स्थल सिंदखेड़ राजा में राजे लखूजीराव के रजवाड़े में रखे शिवकालीन ६ तोपों में से एक ८५ किलो वजनी पंचधातु निर्मित तोप कल देर रात अज्ञात चोरों ने गायब कर दिया. सुबह यह बात प्रकाश में आते ही पुरातत्व विभाग के होश फख्ता हो गए. विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है. उधर जिजाऊ के भक्त इस चोरी से तिलमिलाये हुए हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, जिले के तीर्थ सिंदखेड़ राजा नगर में राजे लखूजीराव का विशाल रजवाड़ा है. इस रजवाड़े में माँ जिजाऊ का जन्म हुआ. इसलिए यह शहर पूरे महाराष्ट्र में तीर्थ के रूप में प्रसिद्ध है. जनवरी माह में माँ जिजाऊ के दर्शनार्थ भारत के विभिन्न राज्यों से हर वर्ष यहाँ पहुँचते हैं. इस रजवाड़े की देखभाल का जिम्मा पुरातत्व विभाग को दी गई है. राजे लखूजीराव के इतिहास की जानकारी यहाँ पहुँचने वालों को मिले इसके लिए रजवाड़े परिसर में ५ तोप रखे गए थे. कई दिनों पहले आडगाँव में रजवाड़े में मिली लकड़े के गाड़ी पर पंचधातु निर्मित एक तोप सिंदखेड़ राजा के रजवाड़े  में लाकर रखा गया. जिसके बाद तोपों की संख्या ६ हो गई थी. कर देर रात उसी पंचधातु से निर्मित ८५ किलो ग्राम वजनी तोप गायब हो गयी. इस घटना की जानकारी मिलते ही शहर के गणमान्य भक्त वहाँ दौड़ते चले आये. जनवरी के १२ तारीख को माँ जिजाऊ का जन्मोत्सव बड़ी श्रद्धा व धूमधाम से मनाया जाता है. इस मामले की सघन जाँच की माँग की जा रही है. माँगों करने वालों में श्रीकृष्ण दंदाले, गजानन डोईफोड़े, दिनकर खरात, सुमेध बोराड़े, सोनू झोपे, शिवाजी खंडारे, शिवाजी काकड़, रामेश्वर खरात के साथ बहुसंख्या जिजाऊ भक्तों ने की है.