Published On : Wed, May 15th, 2019

सीए छात्रों से टीवी एक्टर प्रतीक ने साधा संवाद, बताए सफलता के चार मंत्र

नागपुर: चार्टर्ड अकाउंटेंसी कोर्स करने वाले छात्रों को यह ध्यान रखना होगा कि कड़ी मेहनत, समर्पण, प्रतिबद्धता और दृढ़ता चार महत्वपूर्ण कारक हैं, जो किसी के सुंदर जीवन में सफलता के उचीत रंगों को सुनिश्चित करते हैं. भारतीय फिल्म और टेलीविजन उद्योग के एक प्रसिद्ध चेहरे प्रतीक परिहार ने अपने विचार छात्रों के साथ साझा की.

वे बतौर मुख्य अतिथी 36 वें उन्नत सूचना प्रौद्योगिकी और 38 वीं उन्नत प्रबंधन और संचार कौशल बैचों के उद्घाटन के अवसर पर ICAI की WIRC की नागपुर शाखा को संबोधित कर रहे थे. एमएस रमैया कॉलेज ऑफ लॉ, बैंगलोर से अपनी प्रतिष्ठित एलएलबी योग्यता प्राप्त होने के कारण, चार्टर्ड अकाउंटेंसी के इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स द्वारा डिजाइन किए गए उक्त पाठ्यक्रमों के लिए पंजीकृत छात्रों से बहुत सरलता से जूड़ गए. प्रतीक ने अपने लोकप्रिय टीवी शो जैसे आदत से मजबूर सोनी सब, चक्रवर्ती अशोक सम्राट कलर्स, ये है मोहोब्बतें स्टार प्लस, सी.आई.डी. सोनी पर, जी पर कुमकुम भाग्य जैसे धारावाहिकों में सफल जगह बनाइ.

उनका सुझाव है कि प्रत्येक व्यक्ति को पुस्तक “द सीक्रेट” पढ़नी चाहिए क्योंकि वह दृढ़ता से मानते है कि आप अपने पिछले जीवन में हुई असफलताओं के बारे में जितना अधिक सोचते हैं, नकारात्मक चीजें आपके जीवन में उतनी ज्यादा आकर्षित होती हैं और आप लगातार अपने आप को नकारात्मक वाइब्स के साथ घेर लेते हैं. हालांकि यदि आप लगातार खुद को एक सफल व्यक्ति के रूप में देखते हैं जिसे आप बनना चाहते हैं, तो एक दिन आप निश्चित रूप से अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे. उन्होंने उपस्थित छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए अपनी बात समाप्त की।

आईसीएआई की नागपुर शाखा के अध्यक्ष सीए सुरेन दुरगकर ने ब्रांच में अपनी पहली यात्रा पर प्रतीक का गर्मजोशी से स्वागत किया. उन्होंने कहा कि जीवन में संघर्ष किसी भी पेशे में अपरिहार्य है, उन्होंने कहा कि परिहार कलाकार के रूप में फिल्म उद्योग में अपना करियर स्थापित करने में काफी संघर्ष कर चुके हैं, इसलिए अपनी कहानी साझा करने से सीए प्रोफेशन के इच्छुक छात्रों को प्रेरणा मिलेगी.

शाखा के वाइस चेयरमैन सीए किरीट कल्याणी ने इस आयोजन का प्रभावी ढंग से समन्वय किया. उन्होंने उद्घाटन सत्र में अपने कठिन सवालों के दौरान, छात्रों के रूप में श्री हरीश और मिस दिव्या की एकाग्रता और सक्रिय उपस्थिति को मान्यता दी. उक्त छात्रों को स्वयं प्रतीक परिहार के हाथों उपहार दिए गए. पाठ्यक्रमों के लिए संकाय सीए निकिता चावला, सी.ए. अनिरुद्ध गुढे, सीए रिद्धि साबू और सीए शिखा अग्रवाल को ICAI की WIRC की नागपुर शाखा ने मान्यता दी और उनका स्वागत किया. वोट ऑफ थैंक्स सीए अक्षय गुल्हाने द्वारा प्रस्तुत किया गया. इस अवसर पर मुख्य रूप से सीए संजय अग्रवाल, WICASA के अध्यक्ष, सीए विनोद चंदवानी, विभिन्न प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के छात्र और लगभग १२५ सीए संकायों के साथ उपस्थित थे.