Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Aug 17th, 2018

    नियमों की अनदेखी कर प्रिंसिपल ने एक ही समय पर स्कूल की नौकरी और रेगुलर एम.ए की डिग्री की हासिल

    नागपुर :- पारशिवनी स्थित अरविंद इंडो पब्लिक स्कूल में पदस्थ रहते हुए प्रिंसिपल का नौकरी करते हुए नागपुर यूनिवर्सिटी से रेगुलर में प्रवेश लेकर एम.ए की डिग्री हासिल करने का मामला आरटीआई की जानकारी में सामने आया है. अरविंद इंडो पब्लिक स्कूल की गड़बड़ी कम होने का नाम ही नहीं ले रही है. इस स्कूल का अभी हाल ही में अवैध रूप से 8वीं और 9वीं क्लास का मामला उजागर हुआ था.

    यह मामला उजागर होने के बाद कार्रवाई होने के डर से प्रिंसिपल और स्कूल संचालक ने दोनों क्लासेस के विद्यार्थियों को वास्तविक एडमिशन ली हुई हेटी सुर्ला स्थित अरविंद पब्लिक स्कूल सावनेर में ट्रांसफर किया था. ऐसा करके प्रिंसिपल और स्कूल संचालक ने अनियमितता को उजागर किया.

    नई जानकारी में सूचना के अधिकार कार्यकर्ता महासंघ के पदाधिकारी शेखर कोलते ने नागपुर यूनिवर्सिटी के परीक्षा भवन के कार्यालय से यह जानकारी हासिल की है. जानकारी के अनुसार अरविंद इंडो पब्लिक स्कूल परशिवनी में स्कूल की प्रिंसिपल ने नौकरी करते हुए नागपुर यूनिवर्सिटी से रेगुलर एम.ए की डिग्री ली है. स्कूल की प्रिंसिपल राजेश्री प्रभाकरराव देशमुख ने 2015-2016 सत्र में एम.एम ( समाजशास्त्र ) के पाठ्यक्रम में प्रवेश लिया था.

    यह पाठ्यक्रम देशमुख ने संस्था के अधीनस्थ पारशिवनी के महात्मा गांधी आर्ट व कॉमर्स कॉलेज से पूरा किया. इस संदेहास्पद विषय की अब जोरो पर चर्चा है. नियम के अनुसार सेवा में रहते हुए कोई भी अधिकारी या कर्मचारी यूनिवर्सिटी से रेगुलर पाठ्यक्रम कर ही नहीं सकता है.

    ऐसे समय उसी यूनिवर्सिटी से एक्सटर्नल विद्यार्थी के रूप में या फिर इग्नू, यशवंतराव चव्हाण मुक्त विद्यापीठ से पाठ्यक्रम पूरा करने का नियमअनुसार पर्याय उपलब्ध होता है. लेकिन ऐसा करते हुए भी शिक्षा विभाग और संस्था के वरिष्ठ अधिकारियों की लिखित अनुमति लेना आवश्यक है.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145