Published On : Mon, Nov 4th, 2019

फेकआईडी बनाकर टिकट मुहैय्या करानेवाले दलालों का पर्दाफाश

105 यात्रियों से 1 लाख 17 हजार रुपए का जुर्माना वसूला

नागपुर– यात्रियों को नकली आईडी देकर उनको कन्फर्म रेलवे टिकट देने का एक बड़ा मामला सामने आया है. इसमे नागपुर पुणे गरीब रथ एक्सप्रेस से 44 यात्रियों से 50, 600 रुपए और मुम्बई दुरंतो एक्सप्रेस से 61 यात्रियों से 66,500 रुपए, कुल 105 यात्रियों से 1 लाख 17 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया गया है. यह जानकारी 4 नवंबर सोमवार को मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडेय ने पत्र परिषद में दी.

मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडेय की जानकारी के अनुसार 3 नवंबर को गरीब रथ, मुम्बई दुरंतो में 4 महीने पहले ही ओपनिंग टिकट बड़ी तादाद में दलालों द्वारा बुकिंग किए जाने की सुचना आरपीएफ को मिली थी.

इसके तहत सभी ओपनिंग टिकट के पीएनआर की गहनता से जांच की गई तो पाया गया की ओपनिंग टिकट पर फर्जी नाम से यात्रा कराने की दलालों की योजना है. नकली आईडी से सफर करनेवाले यात्रियों और दलालों की जानकारी मिली थी. मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडेय के मार्गदर्शन में इसके लिए 2 टीम बनाई गई थी.

पहली टीम निरीक्षक जी. ए.गरकल (रेसुब पोस्ट सेटेलमेंट ), उपनिरीक्षक मो.मुगीसुद्दीन गाडी क्रमांक 12114 नागपुर पुणे गरीब रथ एक्सप्रेस में तथा दूसरी टीम निरीक्षक एस.बी.पगारे, उप-निरीक्षक उषा बिसेन टीम के मार्गदर्शन में गाडी क्रमांक 12290 नागपुर से मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस में मध्य रेलवे कमर्शियल विभाग की सहायता से यह अभियान चलाया गया.

इसके तहत दो ट्रेनों में कार्रवाई की गई . फ़ेकआईडी से सफर करनेवाले यात्रियों पर बिना टिकट कार्रवाई की गई है. नागपुर के 10 टिकट दलालो के भी नाम सामने आए है. पांडेय ने बताया कि फर्जी आधारकार्ड बनाकर यह गोराखधंदा चल रहा था.

उन्होंने बताया कि जिन यात्रियों से जुर्माना वसूला गया है. उनसे और जानकारी मांगी जाएगी और उन्हें गवाह बनाया जाएगा. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया की साल 2019 जनवरी से अक्टूबर तक कुल 2,751 टिकट उसकी कीमत 23,700,40 जब्त की गई है. जिसमें अब तक कुल 67 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा की यात्री इस तरह से फेक आईडी पर यात्रा न करे क्योकि यह भी एक तरह का अपराध है. उन्होंने कहा की इन 10 दलालों पर कार्रवाई की जाएगी.