Published On : Tue, Apr 30th, 2019

ट्रांस्पोर्टर Bobby Makan के हत्यारों अब तक नहीं मिला सुराग,लिटिल और पवन मोरयानी से दिनभर पूछताछ

नागपुर. ट्रांस्पोर्टर बॉबी माकन ( Bobby Makan ) के हत्यारों का अब तक कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है. जरीपटका पुलिस सहित पूरी क्राइम ब्रांच मामले की जांच में जुटी है. पुलिस हर उस व्यक्ति से पूछताछ कर रही है जिसका बॉबी के साथ विवाद हुआ था, लेकिन जानकारी मिली है कि बॉबी का 1-2 नहीं बल्कि दर्जन भर लोगों के साथ कुछ न कुछ विवाद था. ऐसे में जब तक कोई ठोस सबूत पुलिस के हाथ नहीं लगता, जांच आगे नहीं बढ़ेगी. बॉबी की मौत से रिश्तेदार और दोस्त दोनों सदमे में हैं. दोस्तों का कहना है कि किसी बहुत करीबी व्यक्ति ने बॉबी की हत्या की है.

बॉबी किसी अपरिचित व्यक्ति के साथ नहीं बैठते थे. बॉबी को बाकायदा साथ ले जाकर मारा गया है. इससे साफ है कि बॉबी किसी परिचित व्यक्ति के साथ ही गए थे. गुरुवार की रात ऑफिस बंद करने के बाद सफेद रंग की इनोवा गाड़ी आकर रुकी. उस गाड़ी से उतरे एक शख्स ने बॉबी के साथ कुछ बातचीत की और गाड़ी में बैठे व्यक्ति की तरफ इशारा किया. बाद में बॉबी ने गाड़ी की पिछली सीट पर बैठे एक व्यक्ति से बात की. बॉबी के साथ सफेद रंग की गाड़ी भी आटोमोटिव चौक की तरफ निकल गई. यह सफेद रंग की गाड़ी किसकी थी और उसमें कौन बैठा था, यह पता नहीं चल पा रहा है.

लिटिल और पवन मोरयानी से दिनभर पूछताछ

पुलिस ने पिछले 2 दिनों में बॉबी के साथ हुए विवादों की जानकारी इकट्ठा की है. करीब दर्जन भर लोग हैं जिनसे बॉबी का विवाद चल रहा था. लंबे समय से चल रहे मतभेद के बाद पिछले 1 महीने से लिटिल और बॉबी के बीच अचानक दोस्ती हो गई थी. वहीं कमाल चौक पर स्थित करोड़ों की जमीन पर पजेशन को लेकर बॉबी का पवन मोरयानी के साथ विवाद चल रहा था. इसके अलावा पारडी के गोल्डी नामक शख्स से भी बॉबी का विवाद था. बॉबी का एक विवादित मामला छिंदवाड़ा में भी चल रहा है. ऐसे 15 से 20 लोगों से पुलिस ने पूछताछ की है. रविवार को क्राइम ब्रांच ने लिटिल से पूछताछ की.

सोमवार को दिनभर जरीपटका पुलिस लिटिल और मोरयानी से पूछताछ करती रही. अब पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जब तक कोई क्लू हाथ नहीं लगेगा, जांच को दिशा नहीं मिल पाएगी. पुलिस तकनीकी जांच पर जोर दे रही है. ये भी हो सकता है कि जिन लोगों से बॉबी का विवाद चल रहा हो, उन्होंने नए मोबाइल और सिम का इस्तेमाल किया हो. इसीलिए पुलिस टावर लोकेशन से जुड़े मोबाइल फोन की बारीकी से जांच कर रही है, लेकिन इसमें काफी समय लगता है. वलनी के भी एक चर्चित अपराधी के साथ बॉबी की खटपट होने की जानकारी सामने आ रही है. सोमवार शाम को पोस्टमार्टम के बाद बॉबी का वैशालीनगर घाट में अंतिम संस्कार किया गया.