Published On : Wed, Feb 18th, 2015

भंडारा : भूषन बने भंडारा में स्वाइन फ्लू का पहला शिकार


भंडारा।
भंडारा शहर के मेंढा वार्ड निवासी ३८ साल के भूषन चिंतामन सोनटक्के की मंगलवार देर रात नागपुर सदर अस्पताल में स्वाइन फ्लू से मौत के साथ यह साफ़ हो गया है की इस जानलेवा बिमारी से अब भंडारा भी अछूता नहीं रहा.

ज्ञात हो की विगत एक महीने में स्वाइन फ्लू ने विदर्भ में अपने पैर तेजी से पसारे हैं. मेंढा वार्ड के समता नगर निवासी भूषन चिंतामन सोनटक्के को सोमवार १६ फ़रवरी को सुबह भंडारा जिला अस्पताल भर्ती कराया गया था. प्राथमिक उपचार के कुछ ही घंटो बाद भूषण को मेडिकल कॉलेज अस्पताल रवाना किया गया जहां मंगलवार रात उसकी मौत हो गयी.

सूत्रों से जानकारी मिली है की सोनटक्के परिवार को भंडारा जिला अस्पताल से स्वाइन फ्लू प्रतिबंधक दवाइयां दी गयी हैं. भूषण की मृत्यु से नेहरु वार्ड, समता नगर और मेंढा परिसर में भय व्याप्त है.

जिला अस्पताल में स्वाइन फ्लू से निपटने विशेष कक्ष : डॉ. पातुरकर
इसी बीच कुछ संघटनाओं ने जिला अस्पताल में स्वाइन फ्लू उपचार की कोई व्यवस्था ना होने का आरोप लगाया है. जिला मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. देवेन्द्र पातुरकर ने बताया की भूषण के अलावा इस बिमारी का कोई रुग्ण अभी तक पाया नहीं गया है. इस जानलेवा बिमारी से निपटने के लिए जिला अस्पताल में निचली मंजिल पर एक विशेष कक्ष स्थापित किया गया है. उन्होंने बताया की पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन और दवाइयां उपलब्ध है, साथ ही मरीज़ को नागपुर लेकर जाने के लिए एम्बुलेंस भी तैनात की गयी है.

Representational pic

Representational pic