Published On : Wed, Feb 5th, 2020

हर्षल कोहले पर लगाया एमपीडीए-पुलिस कमिश्नर भूषणकुमार उपाध्याय

नागपुर: पुलिस कमिश्नर भूषणकुमार उपाध्याय ने अंबाझरी थाना क्षेत्र के चर्चित अपराधी हर्षद उर्फ हर्षल मधुकर कोहले (22) पर एमपीडीए लगा दिया है. हर्षल पिछले 3 वर्षों से आपराधिक गतिविधियों में सक्रिय है.

उसके खिलाफ मारपीट, लूटपाट, हफ्ता वसूली और आर्म्स एक्ट सहित 13 मामले दर्ज है. पुलिस ने समय-समय पर प्रतिबंधक कार्रवाई की लेकिन कोई असर नहीं हुआ. वर्ष 2018 में उसकी आपराधिक गतिविधियों को देखते हुए एमपीडीए लगाया गया था. 1 वर्ष तक वह जेल में बंद रहा, लेकिन बाहर आने के बाद भी वह सुधरा नहीं. बीते वर्ष अगस्त महीने में उसने पैसे नहीं देने पर 2 लोगों के साथ मारपीट की.

दिसंबर महीने में हिलटॉप परिसर में उसने एक व्यक्ति से कॉल करने के लिए मोबाइल फोन मांगा. जबरन उसका फोन अपने पास रख लिया. विरोध करने पर रास्ते से पत्थर उठाकर उसके सिर पर मार दिया. 14 जनवरी को उसने परिसर में रहने वाले एक व्यक्ति को आवाज लगाकर रुकने को कहा. वह काम पर जा रहा था इसीलिए रुका नहीं. इससे नाराज होकर हर्षल ने घर में घुसकर मारपीट और गालीगलौच की. वह लगातार परिसर का माहौल बिगाड़ रहा था. स्थानीय लोगं में उसकी दहशत बन रही थी.

डीसीपी विनीता शाहू के मार्गदर्शन में अंबाझरी थाने के इंस्पेक्टर विजय करे ने उसका क्रिमिनल रिकार्ड जमा कर क्राइम ब्रांच को भेजा. क्राइम ब्रांच ने उसके खिलाफ एमपीडीए का प्रस्ताव तैयार कर सीपी उपाध्याय को रिपोर्ट सौंपी. दस्तावेजों की जांच के बाद सीपी उपाध्याय ने सोमवार को हर्षल पर एमपीडीए लगा दिया. उसे गिरफ्तार कर नासिक की सेंट्रल जेल में पहुंचाया गया. पिछले 18 महीनों में सीपी उपाध्याय 48 अपराधियों को एमपीडीए के तहत जेल पहुंचा चुके है.