Published On : Wed, Jan 19th, 2022

विकास के इंजन के चालक बनें : अनिल बाम

Advertisement

पारदर्शिता और सच्चाई सीए के रत्न हैं : अनिल बाम

नागपुर: “विकास के इंजन के चालक बनें; केवल एक यात्री बनकर न रह जाएं’ उक्त विचार सेवानिवृत्त मेजर जनरल अनिल बाम ने सीए छात्रों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। हाल ही में आईसीएआई भवन, धंतोली, नागपुर में 2 दिवसीय सीए छात्र सम्मेलन

Advertisement
Advertisement

का आयोजन किया गया था, सम्मेलन के उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि के रूप में अनिल बाम उपस्थित थे। सम्मेलन का विषय \”टुगेदर टुवर्ड्स टुमॉरो’ था। सीए
छात्र सम्मेलन का आयोजन छात्र कौशल संवर्धन बोर्ड, अध्ययन बोर्ड, आईसीएआई,

नई दिल्ली द्वारा किया जाता है। श्री बाम ने कहा कि सीए छात्र कल के स्तंभ है। सेना के एक अनुभवी व्यक्ति के रूप में, उन्होंने कहा कि राष्ट्र की ताकत दो पहलुओं से आती है – सुरक्षा प्रणाली और अर्थव्यवस्था। एक भारतीय नागरिक के लिए हमेशा एकमात्र मंत्र \”राष्ट्र पहले आता है’ होना चाहिए। क्रिकेट और देशभक्ति हमारे देश के दो जुनून हैं। प्रत्येक व्यक्ति को एनडब्ल्यूडी (जरूरतों, चाहतों और इच्छाओं) का परीक्षण करना चाहिए और उसी के अनुसार जीवन के लक्ष्यों का पीछा करना चाहिए। उन्होंने छात्रों से वित्तीय अखंडता सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करने और यह याद रखने का आग्रह किया कि पारदर्शिता और सच्चाई सीए पेशे के दो अनमोल रत्न हैं।
आईसीएआई के पूर्व अध्यक्ष सीए जयदीप शाह ने सीए छात्र सम्मेलन के आयोजन में आनेवाली विभिन्न चुनौतियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने प्रतिभागियों को तकनीकी परिवर्तनों को आत्मसात करने के साथ-साथ जूरी के निर्णयों में विश्वास करने और कभी भी न उलझने के लिए प्रेरित किया।

डब्ल्यूआईआरसी के अध्यक्ष सीए यशवंत कसार ने सम्मेलन के आयोजन के लिए नागपुर शाखा द्वारा किए गए प्रयासों पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने छात्रों से सम्मेलन में हुए विचार-विमर्श का अधिक से अधिक लाभ उठाने और अपने जीवन में हमेशा बेहतर करने के लिए प्रयास करने का आग्रह किया।
क्षेत्रीय परिषद सदस्य सीए अभिजीत केलकर ने सीए जितेंद्र सगलानी और सीए साकेत बगड़िया के नेतृत्व में टीम विकासा को बधाई दी, जो छात्रों को इस ज्ञान पूर्ण सम्मेलन में भाग लेने के लिए प्रेरित करते हैं।

आईसीएआई की नागपुर शाखा के अध्यक्ष सीए साकेत बगड़िया ने कहा कि, \”आज के क्षण कल की यादें हैं।’ उन्होंने कहा कि यह एक उपयुक्त विषय के साथ एक उपयुक्त सम्मेलन है, जिसका उद्देश्य कल के लिए युवा पेशेवरों का निर्माण करना है जो स्मार्ट, तकनीकी जानकार, बुद्धिमान और बेहतर प्रदर्शन करने वाले व्यक्ति हो। बगड़िया ने नागपुर शाखा को इस प्रतिष्ठित सम्मेलन की मेजबानी का अवसर देने के लिए अध्ययन बोर्ड के साथ-साथ केंद्रीय परिषद के सदस्य एसएसईबी के अध्यक्ष सीए सुशील कुमार गोयल और सीए अनिल भंडारी को उद्घाटन सत्र में उपस्थित रहने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने सम्मेलन में उपस्थित सभी जजेस को पेपर प्रस्तुतकर्ताओं का उचित मूल्यांकन करने के लिए धन्यवाद दिया।
बोर्ड ऑफ स्टडीज एसएसईबी के अध्यक्ष, सीसीएम सीए सुशील कुमार गोयल ने सम्मेलन के पंजीकृत छात्रों का वस्तुतः मार्गदर्शन किया और सीए छात्रों के लाभ के लिए एसएसईबी द्वारा की गई विविध पहल की जानकारी दी। उन्होंने परीक्षा, पेपर चेकिंग, सीडीएस सिस्टम, ई-लर्निंग आदि के संबंध में छात्रों से संबंधित सभी बातों को स्पष्ट किया।

पहले दिन तकनीकी सत्रों की अध्यक्षता पूर्व अध्यक्ष सीए अभिजीत केलकर, सीए संदीप जोतवानी और सीए कविता लोया ने की। सीए स्वामी कृष्णदास ब्रजदेवीजी ने \”जैसी तेरी मरजी\” नामक प्रेरक सत्र में छात्रों को प्रेरित किया जो छात्रों के लिए बहुत ज्ञानवर्धक था।
सम्मेलन में 190 से अधिक छात्रों ने भाग लिया।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से विकासा के चेयरमैन सीए जितेंद्र सगलानी, सचिव सीए संजय एम. अग्रवाल, कोषाध्यक्ष सीए अक्षय गुलहाने और पूर्व अध्यक्ष सीए किरीट कल्याणी शामिल थे। कार्यक्रम का संचालन नागपुर विकासा टीम द्वारा किया गया, जिसमें उपाध्यक्ष अमेया सोमन, सचिव अविरल बरंगे, कोषाध्यक्ष राधिका तनेजा, संयुक्त सचिव करण अग्रवाल, संयुक्त संपादक रवीना तायडे, करण ताजने और कार्यकारी सदस्य पराग जैन शामिल थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement