Published On : Mon, Aug 9th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

कलमना स्थित अनाज व्यापारियों की समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन

Advertisement

सुनील केदार ने प्रतिनिधिमंडल को दिया आश्वासन

नागपुर, नागपुर कलमना मार्किट से जुड़ी समस्याओं के लिए दि होलसेल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल रविवार को महाराष्ट्र के केंद्रीय मंत्री सुनील केदार से मिल कर ज्ञापन दिया।।एसोसिएशन के सचिव प्रताप मोटवानी ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल में नाग विदर्भ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष अश्विन भाई मेहाड़िया, कमिट के अध्यक्ष और एन वी सी सी के पूर्व अध्यक्ष दीपेन भाई अग्रवाल कलमना न्यू ग्रेन मार्किट के अध्यक्ष संतोष कुमार अग्रवाल और सचिव प्रताप मोटवानी। कलमना धान्यगंजआढ़तिया मंडल के अध्यक्ष अतुल भाई सेनाड़ और सुभाष अग्रवाल, रिषभ जेजानी, रमेश उमाठे सम्मिलित थे।।।केंद्रीय मंत्री सुनील केदार को दीपेन अग्रवाल, अश्विन भाई मेहाडिया, संतोष कुमार अग्रवाल और प्रताप मोटवानी ने बताया कि ए पी एम सी के प्रशासक श्री राजेश भुसारी ने व्यापारियों को 16 अगस्त से सभी दालों, शक्कर ,पोहा मुरमुरा, आटा मैदा रवा और तेल पर 1 प्रतिशत सेवा शुल्क लगाने के नोटिस जारी किए है वह पूरी तरह अन्यायकारक है।

Advertisement
Advertisement

माननीय बाबासाहेब केदार, और काकानीजी ने जब अनाज मार्किट कलमना स्थानांतरित करवाया था तो स्पष्ट इस कंडीशन में मार्किट कलमना शिफ्ट हुआ कि मंडी सेस सिर्फ कठानी मालों पर ही लगेगा।बाकी जिनसो पर किसी भी प्रकार का मंडी सेस या सेवा शुल्क नही लगेगा।।इसी शर्त पर एसोसिएशन ने अनाज बाजार कलमना में स्थानांतरित किया।।।मोटवानी ने बताया यह सेवा शुल्क महाराष्ट्र के किसी भी ए पी एम सी में नही लगाया जाता है। साथ ही ए पी एम सी ने व्यापारियों को नोटिस भेजे जिसमे कलमना में आंतरिक व्यापार पर मंडी शुल्क का भुगतान करने को लिखा जब से मार्केट कलमना शिफ्ट हुआ है तब से कभी भी मार्किट यार्ड में व्यापार पर मंडी शुल्क का कही भी प्रावधान नही है।एक्ट के अनुसार किसी भी माल पर एक बार मंडी सेस ले सकते है।।इसीलिए जब कोई भी माल कलमना मार्किट यार्ड से बाहर बिक्री होकर जाता है उस पर मंडी शुल्क लग जाता है।

अतः यह आंतरिक व्यापार पर मंडी सेस लगाने को जो नोटिस भेजे जा रहे है वह पूरी तरह अन्यायिक गलत और एक्ट के नियम के खिलाफ है।।तीसरा ए पी एम सी ने नया नियम बना कर सेस काउंटर से बिल जमा कर टोकन पद्वती शुरू की है जिससे माल बिकने के बाद सेस काउंटर में टोकन लेने से वहाँ समय की बर्बादी और दुकानों में इसके लिए अतिरिक्त मुनीम की व्यवस्था का खर्च ग्राहकों को असुविधा तकलीफ होने से व्यापार 50% कम होने से व्यापारियो में तीव्र नाराजगी असंतोष और तकलीफ हो रही है।। अध्यक्ष संतोष अग्रवाल ने बताया कि इससे कलमना न्यू ग्रेन मार्किट का पूरा व्यापार चौपट हो रहा है।।व्यापारियो की बढ़ती तकलीफ से कलमना में व्यापार में इतनी तकलीफों से व्यापारी त्रस्त हो चुका है।

सचिव प्रताप मोटवानी ने केंद्रीय मंत्री सुनील केदार को बताया कि अगर यह नियम लागू होते है तो व्यापारियों का व्यवसाय पूरी तरह ठप्प हो जायेगा और कलमना से पलायन के अलावा कोई रास्ता नही रहेगा।आदरणीय बाबा साहेब केदार का सपना था कि न्यू ग्रेन मार्किट में व्यापारियों का व्यवसाय फले फुले , व्यापार और व्यापारी वहां से बेहद ऊंचाइयों में जाये , और यह मार्कट देश का सबसे बड़ा मार्किट हो ,पर इन नियमो से स्थिति विपरीत होकर व्यापार चौपट होने के कगार पर है और व्यापारी बेहद हताश है।। चेम्बर के अध्यक्ष अश्विन भाई मेहाड़िया और कमिट के अध्यक्ष दीपेन भाई अग्रवाल ने मंत्री महोदय को बताया कि कोरोना काल मे पहिले से ही व्यापारियों का व्यवसाय बेहद प्रभावित होकर आधे से भी कम हो चुका है। कोरोना और लॉक डाउन से व्यापारियो की परिस्थिति बिगड़ चुकी है ऐसी स्थिति में ऐसे आदेश भेजने से व्यापारी टूट जाएंगे।

व्यापार बचाने के लिए अविलंब इस पर रोक लगाए। केन्दीय मंत्री सुनील केदार ने सभी समस्याओं को सौहार्दपूर्ण वातावरण में ध्यानपूर्वक सुन कर उसी समय ए पी एम सी के प्रशासक राजेश भुसारी जी को बुलवाकर कर निर्देश दिए और प्रतिनिधीमंडल को आश्वासन दिया कि व्यापारियों की समस्याओं का शीघ्र समाधान किया जाएगा।।। और व्यापारियों को राहत दी जाएगी। प्रतिनिधी मंडल ने केंद्रीय मंत्री सुनील केदार का आभार माना।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement