Published On : Tue, Sep 24th, 2019

बाबा हुजूर को चढ़ाई जा रही खुशबूदार चादरें

नागपुर: सर्वधर्म समभाव के प्रतीक, विश्वप्रसिद्ध सूफी संत हजरत बाबा ताजुद्दीन र.अ. का 97वें सालाना उर्स का ताजाबाद शरीफ, उमरेड रोड में धूमधाम से मनाया जा रहा है। उर्स में शामिल होने के लिए राज्य व आस- पास के राज्यों से जायरीन पहुंच रहे हैं। हजरत बाबा ताजुद्दीन की मजार पर माथा टेककर खुशबूदार चादरें चढ़ाई जा रही हैं। उर्स के दौरान देश भर से लाखों जायरीनों के आने का सिलसिला आरंभ हो चुका है। रविवार को हजरत बाबा ताजुद्दीन ट्रस्ट की ओर से परचम कुशाई की रस्म अदायगी के पश्चात अनेक अतिथियों ने भी बाबा हुजूर को चादर पेश की। परिसर में सभी ओर उर्स की मुबारकबाद देते हुए श्रद्धालु दिखाई दे रहे हैं।

सालाना उर्स का प्रमुख आकर्षण दरबारी शाही संदल गुरुवार, 26 सितंबर को सुबह 10 बजे हजरत बाबा ताजुद्दीन ट्रस्ट की ओर से ट्रस्ट के कार्यालय से निकलेगा. संदल निकलने से पहले ट्रस्ट कार्यालय के सभागृह में मेहमानों की दस्तारबंदी होगी. ट्रस्ट के संदल में प्रतिवर्षानुसार देश के कई हिस्सों के आए सूफी संत व फकीर शामिल होंगे. संदल में सफेद घोड़े, बैंड, धुमाल, यलगार पार्टी, मलंग आदि शामिल होंगे. वापस दरगाह आने के बाद बाबा हजरत की दरगाह में शाही संदल व चादर पेश की जाएगी.

शुक्रवार, 27 सितंबर को सुबह 9 बजे छोटा कुलशरीफ की फातेहा होगी. इसी तारीख को रात 10 बजे आॅल इंडिया नातिया मुशायरा होगा, जिसमें देश के कई शहरों से आए शायर नात पेश करेंगे. रविवार, 29 सितंबर को सुबह 10 बजे बड़ा कुल शरीफ की फातेहा होगी.

उर्स के दौरान शुरु से आखिरी दिन तक बाबा हजरत के दरबार में नमाजे इशा के बाद मिलाद शरीफ, वाज और महफिले कव्वाली होगी. उर्स के दौरान 22 सितंबर से 31 अक्तूबर तक भव्य मेला भी जारी रहेगा. हजरत बाबा ताजुद्दीन के इस उर्स मुबारक में नागपुर के कोने-कोने से सभी धर्म के लोगों को शामिल होने की अपील ट्रस्ट के प्रशासक गुणवंत कुबड़े, मानद सदस्य एड. अश्विन बेथारिया और कार्यकारी सदस्य अमानुल्ला खान ने की है.