Published On : Wed, Aug 25th, 2021

बाल यौन शोषण और तस्करी को रोकने के लिए पुलिस के प्रयासों की सराहना

नागपुर: महाराष्ट्र की उप-राजधानी नागपूर शहर में बच्चों के यौन शोषण और तस्करी को रोकने के लिए नागपुर पुलिस विभाग द्वारा की जा रही कार्रवाई की विभिन्न तबकोंद्वारा सराहना की जा रही है। नागपुर शहर की बेहतरी के लिए पुलिस की इस कार्रवाई का समर्थन करते हुए ३० स्वयंसेवकों ने संविधान चौक में पुलिस की तारीफ में पोस्टर पकड़कर पुलिस का शुक्रिया अदा किया। नागपुर के युवाओं ने तस्करी जैसे गंभीर अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के लिए पुलिस आयुक्त को आभार पत्र भी सौंपा।

मैट्रिक्स वारियर्स, समाज कल्याण, पर्यावरण पर काम कर रहे युवा, एनजीओ और अन्य संबंधित संगठनों के स्वयंसेवकों ने गंगा जमुना को बंद करने के लिए पुलीस विभाग का धन्यवाद करने के लिए “थँक यु पुलीस अंकल”, “सुरक्षित नागपुर का सपना सच हुआ, पुलिस को धन्यवाद”, “Save Nagpur from Sex Slavory”… ऐसे पोस्टर लेकरं पुलिस को धन्यवाद दिया। युवकों ने नागरिकों की सुरक्षा के लिए पुलिस को राखी बांधी। आरबीआई, सविधान चौक… ऐसे विभिन्न स्थानों पर बाल यौन तस्करी के खिलाफ पुलिस द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में बॅनर लागाकर जागरूकता फैलाने का प्रयास युवको द्वारा किया जा रहा है।

जब पुलिस कार्रवाई नहीं करती है तो हम उनकी आलोचना के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। पुलिस द्वारा किए जाने वाले अधिकांश कामों को नजरंदाज किया जाता है। हालाँकि, जब पुलिस पूरी निष्ठा के साथ अपना काम करती है, तो यह हमारी ज़िम्मेदारी होनी चाहिए कि आप उनके कार्यो के लिए अपना समर्थन दिखाएं। पुलिस गंभीर अपराधों को रोकने और हमारी सुरक्षा के लिए दिन-रात काम करती है। इसके लिए नागपुर वासियों को पुलिस के प्रयासों को समझने और उनकी सराहना करने की जरूरत है। यह विचार मैट्रिक्स वारियर्स के सह-संस्थापक अभिषेक उरकुडे ने व्यक्त किया।


ड्रीम फॉर लाइफ फाउंडेशन के संस्थापक रोहन अरासपुरे ने अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हुए कहा की, “कॉलेज के लड़के सेक्स ट्रैफिकिंग व्यवसाय में ग्राहको का एक प्रमुख आधार बन जाते हैं। परिणामस्वरूप, कई युवा, कॉलेज की लड़कियां यौन तस्करी का शिकार हो जाती हैं। आवश्यकता है की हम शहर में महिलाओं के खिलाफ यौन तस्करी और अपराधों को रोकने के लिए पुलिस के प्रयासों की सराहना करे।”

नागपुर के पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने सितंबर २०२० में आयुक्त के रूप में पदभार संभाला। इसके बाद से ही वे शहर में अपराधियों पर नकेल कसने के लिए सुर्खियों में बने हुए हैं।