Published On : Fri, Nov 14th, 2014

सेलू (वर्धा) : आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिका 20 हज़ार रिश्वत लेते गिरफ़्तार

Ranjana Jawade
सेलू (वर्धा)। एक आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिका द्वारा सेविका की नियुक्ति में गड़बड़ी करने तथा वेतन न निकलने की धमकी देकर 20,000 की रिश्वत लेते हुए एसीबी ने जाल बिछा कर उसे गिरफ़्तार कर लिया.प्राप्त जानकारी के अनुसार, फरियादी का एकात्मिक बाल विकास सेवा योजना अंतर्गत आंगनवाड़ी सेविका के रूप में मौजा डिगरज पो. सिंधी (रेलवे) तालुका सेलु जिला वर्धा में नियुक्त की गई. नियुक्ति पत्र मिलने के बाद अपने मूल कागजात आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिका, रंजना महादेवराव जवादे, पं.स. सेलु, वर्धा के समक्ष पेश किया व डिगरज में काम में जुट गई. उसके बाद रंजना जवादे ने नियुक्ति में सहयोग किये जाने के एवज में 20,000 रु. की मांग करते हुए उसे धमकी दी कि यदि पैसे नहीं दिए तो नौकरी स्थाई व पेमेंट नहीं मिलेगी. इस धमकी के बाद फरियादी ने शिकायत एसीबी से कर दी. बाद में 14 नवम्बर को ब्यूरो के अधिकारी व कर्मचारी ने मौजा सेलडोह, सेलु, वर्धा में जाल बिछा कर 20,000 रूपये की रिश्वत लेते हुए रंजना महादेवराओ जवादे को रंगे हाथों गिरफ़्तार कर लिया. इस कार्यवाही में पो. उपाधीक्षक अनिल लोखंडे के मार्गदर्शन में निरीक्षक सारिन दुर्गे, गिरीश कोर्डे, नरेंद्र पाराशर, निशीथ रंजन पण्डे, रजिनी हिवाले सहयोग दिया. साथ ही पुलिस अधीक्षक प्रकाश जाधव ने आह्वान किया कि यदि किसी अधिकारी द्वारा रिश्वत मांगी जाय तो सीधे टोल फ्री न. 1064 पर संपर्क किया जा सकता है.