Published On : Sun, Feb 26th, 2017

ईवीएम और भाजपा के विरोध में सभी विपक्षी पार्टिया हुई एकजुट


नागपुर:
नागपुर महानगर पालिका में भाजपा ने एकतरफा जीत हासिल की है। लेकिन जिस तरह से दूसरी पार्टियों के चुनाव नतीजे आए है। उसके कारण अन्य पार्टियों में ईवीएम मशीन को लेकर और भाजपा सरकार को लेकर नाराजगी है। ईवीएम मशीन को बंद करने ,प्यालेट वोट का समर्थन और दोबारा मनपा चुनाव की मांग को लेकर सभी पार्टिया एकजुट हो चुकी है। शनिवार को गांधीबाग में पत्र परिषद का आयोजन किया गया था। जिसका नेतृत्य कांग्रेस के रमन ठवकर ने किया था। इस परिषद में बहुजन समाज पार्टी ,कांग्रेस ,राष्ट्रवादी कांग्रेस ,शिवसेना ,महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ,मुस्लिम लीग ,एआएमआएम के सभी उमेदवार मौजूद थे.सभी ने ईवीएम मशीन में फेरबदल करने ओर मतदान अपने पक्ष में करने का आरोप सरकार पर लगाया है। उच्च न्यायलय में जाने के साथ ही साथ आंदोलन करने की चेतावनी भी सभी पार्टियों के उमेदवारो की ओर से दी गई है।

ईश्वर बालबुधे

इस दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के शहर प्रवक्ता ईश्वर बालबुधे ने विरोध जताते हुए बताया की जिन लोगों ने प्रभाग में काम किया वे चुनाव में हार गए और जिन्हें लोग पहचानते नहीं थे। उनके जीतने से नागरिक भी नाराज है। उन्होंने ईवीएम चीप में गड़बड़ी करने का भी आरोप लगाया।

वर्षा शामकुले

राष्ट्रवादी कांग्रेस की महिला उमेदवार वर्षा शामकुले ने भाजपा पर गंभीर आरोप करते हुए बताया की चुनाव से पहले एक व्यक्ति उनके पास आया था। जो सॉफ्टवेर के माध्यम से ईवीएम के वोट बदलते थे। और उसने उनकी पार्टी को वह सॉफ्टवेर बेचना चाहा । लेकिन उन्होंने इस बात को गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन चुनाव के दिन शाम के समय अधिकाँश जगह की इलेक्ट्रिक लाइन गुल थी और ट्रैफिक सिग्नल भी जाम कर दिए गए थे। तब जाकर उन्हें इस बात का यकीन हुआ। शामकुले ने भी सॉफ्टवेर के माध्यम से ईवीएम को कण्ट्रोल करने का आरोप सरकार पर लगाया है।

एडवोकेट राजेंद्र गुंडलवार

इस पत्र परिषद में मौजूद एडवोकेट राजेंद्र गुंडलवार ने कहा की भाजपा को इतनी सीटे मिलना कही ना कही संशय को जन्म देता है। उन्होंने बताया की ईवीएम का किस तरह से प्रयोग किया जाता है। इस पर उन्होंने डॉक्यूमेंट्री बनाईं थी। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की हर स्तर पर धांदली हुई है।