Published On : Thu, Jul 23rd, 2020

गिट्टीखदान के SPCA शेल्टर होम के बाहर गंदगी और अतिक्रमण का आलम

नागपुर– नागपुर में अतिक्रमण और गंदगी कई परिसरों और जगहों पर फैली हुई है. लेकिन कुछ क्षेत्रों में ही साफ़ सफाई का ध्यान रखा जा रहा है. ऐसा ही कुछ खराब नजारा गिट्टीखदान के पास स्थित जानवरों के शेल्टर होम सोसाइटी फॉर प्रिवेंशन ऑफ़ क्रूएल्टी टू एनिमल्स ( SPCA) के बाहर दिखाई देता है. गेट के बाहर ही गटर है और सड़क है. सड़क का और गटर का पूरा पानी बारिश में सीधे इस शेल्टर होम में आ जाता है. जिसके कारण यहां रहनेवाले श्वानो और अन्य जानवरों के साथ साथ यहां के डॉक्टरों और केयरटेकर को भी गंदगी में ही इन बेजुबानों जानवरों की सेवा करनी पड़ती है. कई वर्षो से यह समस्याए है. लेकिन इसका निदान अब तक नहीं किया जा सका है.

इस (SPCA) की जब वर्ष 2006 के दौरान शुरुवात हुई थी, तब यहां पर काफी साफ़ सफाई थी, लेकिन अब इस शेल्टर होम के कंपाउंड के बाहर चारों तरफ से अतिक्रमण और कचरा नागरिकों की ओर से डालने के कारण यह परिसर काफी अस्वच्छ हो चूका है.

मुख्य गेट के सामने भी गंदा पानी जमा रहता है, इसके साथ ही नागरिकों के वाहन भी गेट के सामने ही खड़े रखे जाते है. यहां रोजाना इन श्वानो और जानवरों का इलाज करने के लिए आनेवाले डॉक्टर भी इससे परेशान है. डॉक्टरों के अनुसार कई बार उन्होंने गेट के सामने के गटर की शिकायत और गंदगी की शिकायत मनपा से की है. लेकिन कभी भी इस पर ध्यान नहीं दिया गया. इस शेल्टर होंम के आसपास इतना ज्यादा अतिक्रमण और गंदगी हो चुकी है कि कई बार नागरिक जानवरों का इलाज करने के लिए भी यहां नहीं आ पाते.

हर काम में और हर सम्मेलन में सफाई का दम भरनेवाली मनपा और नगरसेवक भी यहां की गंदगी और अतिक्रमण पर मौन बैठे है और इनके कानों में जु तक नहीं रेंग रही.