Published On : Fri, Jul 6th, 2018

प्रशासन की लापरवाही के कारण मेडीकल हॉस्पिटल के वार्डो में घुसा बारिश का पानी

नागपुर: नागपुर शहर में एम्स बनाने की कवायद चल रही है. जिससे उम्मीद की जा रही है की मरीजों को अच्छी स्वास्थ सेवाएं मिलेगी . लेकिन जब मेडिकल हॉस्पिटल की बात करे तो यहां पर मरीजों को रोजाना समस्याओ का सामना करना पड़ता है. बारिश के कारण नागपुर मेडिकल हॉस्पिटल और कॉलेज में पानी घुस जाने के कारण मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ड्रेनेज सिस्टम के चौक हो जाने की वजह से हॉस्पिटल के कई वार्डो में पानी भर गया है. कई सालों से मेडिकल हॉस्पिटल का यही हाल है.

लेकिन यहाँ के डीन, प्रशासन केवल मूकदर्शक बनकर देखने का ही कार्य करते रहे है. मेडिकल हॉस्पिटल का निर्माणकार्य और सुधार का काम पीडब्ल्यूडी विभाग का है लेकिन वह भी केवल खानापूर्ति का कार्य करता हुआ नजर आ रहा है. बारिश का पानी हॉस्पिटल में घुसने की वजह से हॉस्पिटल में ही बिमारी का खतरा बढ़ने लगा है.

अगर मॉनसून से पहले हॉस्पिटल की व्यवस्था सुधारी गई होती तो इस समय मरीजों को परेशानी नहीं होती. अभी नागपुर का विधानसभा का मॉनसून सत्र शुरू है ऐसे में नेताओ और मंत्रियो को इस ओर ध्यान देने की और मेडिकल हॉस्पिटल में सुधार करने की जरुरत अब महसूस होने लगी है. नागपुर के मेडिकल हॉस्पिटल में दूर दराज से मरीज आते है. जिनमे दूसरे राज्यों के सैकड़ो मरीज भी शामिल है.

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ से भी बड़ी तादाद में यहाँ मरीज आते है. उनके साथ उनके परिजन भी आते है. लेकिन असुविधाओ के चलते इन्हे यहां इलाज तो मिल जाता है. लेकिन मुलभुत सुविधा नहीं मिल पाती. जिसके कारण ऐसा लगने लगा है ‘ एम्स ‘ से पहले इसकी व्यवस्था सुधारने के लिए सरकार पहल करे.