Published On : Wed, Dec 19th, 2018

एफडीए पर होटल रेडिसन ब्लू के इल्लीवाले सैंपल भेजने में कोताही बरते का आरोप

-जांच परिणाम संतोष जनक मिलने पर शिवसेना ने जताया ऐतराज

FDA team at Hotel

नागपुर- होटल रेडिसन ब्लू में सांभर में मिली इल्लियों के मामले में शहर के एफडीए डिपार्टमेंट ने सांभर का सैंपल लैब नहीं भेजा है. जबकि सैंपल के रूप में पनीर, तुवर दाल और मिक्स वेज की सब्जी का सैंपल लिया गया था. इस सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है. इस पूरे मामले में शहर के फ़ूड डिपार्टमेंट की भूमिका भी संदेहजनक होने के आरोप लग रहे हैं. है. बुधवार को इसी मामले को लेकर युवासेना के जिला प्रमुख हितेश यादव और कार्यकर्ताओं की ओर से फ़ूड विभाग में जाकर अधिकारियों से बातचीत की गई.

इस बारे में जानकारी देते हुए यादव ने बताया कि एफडीए का कार्य रेडिसन ब्लू को लेकर संदेहजनक है. फ़ूड डिपार्टमेंट के जॉइंट कमिशनर शशिकांत केकरे से मिले लेकिन उनकी ओर से कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं मिल पाया है. यादव ने कहा कि इस घटना के बाद हमने इस मामले में एफडीए को 3 बजे कॉल किया था लेकिन उनकी टीम 7 बजे आई. तब तक होटलवालों ने खराब खाने को ठिकाने लगा दिया. जो सैंपल फ़ूड डिपार्टमेंट ने लिया और उसको लैब भेजा है, उसमे से कुछ नहीं निकलेगा. उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर रेडिसन ब्लू के सामने प्रदर्शन कर विरोध किया जाएगा.

इस पूरे मामले में एंटी एडल्ट्रेशन कमेटी के चेयरमैन मो. शाहिद शरीफ का कहना है कि फ़ूड विभाग के अधिकारियों की ओर से किया गया इंस्पेक्शन सार्वजानिक नहीं किया गया है. उन्होंने फ़ूड डिपार्टमेंट पर आरोप लगाया है कि इंस्पेक्शन की कई बातें छुपाई जा रही हैं. इसी होटल में फिल्मस्टार अमिताभ बच्चन भी रुके हुए हैं और उन्हें जेड प्लस सिक्योरिटी है.

जिसको भी जेड सिक्योरिटी होती है उनका खाना फ़ूड अधिकारी चेक करते हैं. जब फ़ूड अधिकारी उनका खाना चेक करते हैं तो होटल को एफडीए ने करेक्शन नोटिस दिया कैसे. शरीफ ने बताया कि होटल में वेज और नॉन वेज एकसाथ पाया गया है. कई तरह की अनियमितताएं पाई गई है. उन्होंने बताया कि शहर के एक बड़े होटल में इसी तरह का मामला हुआ था तब होटल का लाइसेंस रद्द किया गया था तो अब ऐसी कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है. इस मामले में जिलाधिकारी की मीटिंग में भी यह मुद्दा उठाया उन्होंने यह बात बताई.