Published On : Fri, Nov 30th, 2018

सक्षम अधिकारियों की अनुपस्थिति,पानी पर विशेष सभा स्थगित

Advertisement

– सत्तापक्ष नेता के पहल पर महापौर की घोषणा

नागपुर: नागपुर शहर में पानी की समस्या पर पिछले कुछ आमसभाओं में नगरसेवकों द्वारा मामला उठाया जा रहा था,जिसको गंभीरता से लेते हुए आज विशेष सभा का आयोजन किया गया था.लेकिन सक्षम अधिकारियों के अनुपस्थिति का मुद्दा निर्दलीय,विपक्ष के उठाने से सत्तापक्ष नेता के सिफारिश पर महापौर ने आज की विशेष सभा रद्द कर,पानी पर अगली विशेष सभा ७ दिसंबर को लेने की घोषणा की.

Advertisement
Advertisement

पानी पर विशेष सभा लेने के लिए एक माह पूर्व विशेष सभा ३ नवंबर को लेने का निर्णय लिया गया.प्रशासन ने ३ नवम्बर की विशेष सभा दीपावली त्यौहार के कारण दर्शाकर रद्द कर दी.इसके बाद आज ३० नवंबर को विशेष सभा आयोजित की गई थी.

यूँ तो विशेष सभा के लिए सुबह ११ बजे से शुरुआत होना तय किया गया था.सुबह ११ बजे एक भी नगरसेवक परिसर में नहीं दिखे,सुबह ११.१२ बजे २ नगरसेवक सभागृह में आये.लगभग साढ़े ११ बजे २८ नगरसेवक-नगरसेविका की उपस्थिति में विशेष सभा शुरू हुई.आज की सभा में मनपायुक्त अभिजीत बांगर,अतिरिक्त आयुक्त रविंद्र ठाकरे,जलप्रदाय विभाग के कार्यकारी अभियंता राजगिरे अनुपस्थित थे.

सर्वप्रथम निर्दलीय नगरसेविका आभा पांडे ने कहा कि निर्णय लेने वाले अधिकारी वर्ग अनुपस्थित हैं,इस हिसाब से विशेष सभा का औचित्य नहीं रह गया.जब उक्त सभी उपस्थित रहेंगे तभी यह सभा ली जाये।

विपक्ष नेता ने कहा कि सम्पूर्ण शहर में पानी की कमतरता हैं,आज की चर्चा पर निर्णय नहीं हो सकता।पॉलिसी तय करने के लिए अधिकृत जिम्मेदार अधिकारी रहने पर ही सभा हो.

अंत में सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने कहा कि पानी विषय को लेकर गंभीर हैं,इसलिए विशेष सभा लेने का निर्णय लिया गया.आयुक्त निजी कारणों से बाहर हैं,अतिरिक्त आयुक्त सरकारी दौरे पर हैं और जलप्रदाय विभाग के कार्यकारी अभियंता भी छुट्टी पर हैं.निर्दलीय नगरसेविका और विपक्ष नेता की आज की सभा रद्द करने की मांग का सत्तापक्ष समर्थन करती हैं.

जोशी ने तुरंत आयुक्त बांगर से संपर्क से संपर्क कर चर्चा कर आगामी ६ दिसंबर को विशेष सभा लेने की सिफारिश महापौर से की. ६ दिसंबर को सभा लेने का विरोध कांग्रेस के नगरसेवक संदीप सहारे ने की.जिसकी गंभीरता को देखते हुए जोशी ने पुनः आयुक्त से चर्चा कर ७ दिसम्बर को पानी पर विशेष सभा लेने की पुनः सिफारिश की,जिसे महापौर ने तुरंत स्वीकृति प्रदान कर आज की सभा रद्द करने की घोषणा की.

सत्तापक्ष नेता ने लिया महत्वाकांक्षी घोडेस्वार का स्वागत
उक्त कार्यवाही के दौरान बसपा नगरसेवक जीतेन्द्र घोडेस्वार ने २ बोतल गन्दा पानी महापौर के सुपुर्द किया,जिसे महापौर ने सूंघ कर देखा।इसी बीच सत्तापक्ष नेता ने घोडेस्वार का ध्यानाकर्षण करते हुए सार्वजानिक तौर पर उनका अभिनन्दन किया और कहा कि कई महीनों से घोडेस्वार की इच्छा थी कि वे आगे बैठे,अर्थात बसपा पक्ष नेता के आसान पर बैठे।

याद रहे कि वर्त्तमान बसपा पक्ष नेता मोहम्मद जमाल शेर-सायरी का विश्व कीर्तिमान बनाने में पिछले ४ दिनों से लीन हैं,कल रविवार शाम ७ बजे करीबन वे अपने लक्ष्य के करीब होंगे।इस वजह से वे आज विशेष सभा में अनुपस्थित थे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement