Published On : Mon, Feb 13th, 2017

गन्दगी से परिसर को बचाने विद्यार्थी ने की अनोखी पहल

Aakash Maraskolhe, Fort, Nagpur
नागपुर:
स्वच्छ भारत अभियान के तहत देश के सभी शहरों में सफाई की जा रही है। इस अभियान के तहत नेताओं और अधिकारियों ने हाथों में झाड़ू लेकर खूब फोटो खिंचाई थी। लेकिन उसके बाद सफाई सही तरीके से हो पायी है या नहीं इसके बारे में कोई राजनेता नहीं जानना चाहता। जो परिसर में रहते हैं वही इस गन्दगी की समस्या से अवगत होते हैं। परिसर में खाली जगह पर कचरा डालनेवाले लोगों को रोकने के लिए एक युवक ने बेहतरीन तरीका निकाला। जिससे उस खाली जगह पर लोगों ने कचरा डालना तो बंद किया ही साथ ही इसके उस गंदी जगह का कम खर्च में सौन्दर्यकरण भी हो गया।

इस अनोखी पहल का श्रेय नागपुर के फुटाला के भरत नगर के रहनेवाले आकाश मरसकोल्हे को है। आकाश ने आर.एस.मुंडले महाविद्यालय से बी.ए तक पढ़ाई की है और वह अभी यूपीएससी की तैयारी कर रहा है। दरअसल आकाश के घर के सामने खाली जगह थी, जहां पर परिसर के लोग कचरा फेकते और शौच कर गंदगी करते थे। सामने ही आकाश का घर होने की वजह से उसने इस समस्या से निजात पाने की तरकीब निकाली। उसने अपने 5 से 6 दोस्तों के साथ मिलकर लगभग 6 हजार रुपए जमा किए और उस खाली जगह पर राजस्थान की शैली की तर्ज पर शिवप्रताप गढ़ का किला बनवाया।

जहां पर लगभग 1 मुख्य किले के साथ ही 10 छोटे किले बनवाए। जो देखने में बेहद सुंदर है। किला बनवाने में आकाश ने रात दिन मेहनत की.किला बनवाने के बाद आकाश की मेहनत रंग लाई और परिसर के लोगों ने उस जगह पर कचरा फेकना ही बंद कर दिया। परिसर में आकाश द्वारा किए गए इस उपक्रम की सभी लोग सराहना कर रहे है। आकाश के इस पहल ने नागपुर महानगर पालिका के अधिकारियों और नगरसेवकों को भी आइना दिखाया है। जो परिसर में गंदगी होने पर इस तरह के सफल और कम खर्च वाले सौन्द्रीयकरण का कार्य नहीं करते बल्कि सौन्द्रीयकरण के नाम पर लाखों रुपए की निधि लेकर सिर्फ दिखावा करते हैं।

—शमानंद तायडे