Published On : Fri, Mar 27th, 2020

Video: नागपुर में कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों को लेकर अफवाह फैलाने वाले 3 गिरफ्तार

नागपुर: नागपुर में 59 कोरोना पाजीटिव पाए जाने व 200 से अधिक मरीज मिलने की अफवाह फैलानेवाले 3 लोगों को शहर पुलिस की साइबर सेल ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने 23 मार्वीच को डियो क्लिप के माध्यम से फेक जानकारी वायरल की थी। यह भी दावा किया था कि नागपुर में निगेटिव पाये जानेवाले मरीज मुंबई में पाजीटिव पाये जा रहे हैं। यहां की स्वास्थ्य सेवा पर सवाल उठाया था। साथ ही यह भी कहा था कि यहां डाक्टर भी सुरक्षित नहीं है। मेडिकल अस्पताल के एक डाक्टर को पाजीटिव बताया गया था। सोशल मीडिया पर इस आडियो को लेकर काफी चर्चा थी।

आयुक्त ने तुुरंत लिया एक्शन

लोगों में भय का वातावरण बन रहा था। इस पर मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे ने तत्काल खुलासा किया था कि आडिया संवाद सही नहीं है। आरोपियों में जय गुप्ता 37, अमित पारधी 38 व दिव्यांशु मिश्रा 33 शामिल है। पता चला है कि जो आडियो क्लिप वायरल हुआ है वह गुप्ता व पारधी के बीच संवाद का है। आडियो में 4.52 मिनट तक बातचीत की जा रही है। उसमें यह भी कहा गया था कि मेडिकल अस्पताल के डाक्टर कमलेश को पाजीटिव पाए जाने के बाद वेंटिलेटर पर रखा गयाहै। नितीन नाम के एक नेता के नाम का भी जिक्र किया गया। पालकमंत्री नितीन राऊत जिले में प्रशासनिक व्यवस्था की कमान संभाले हुए हैँ। ऐसे में क्लिप सुनकर लोगों को लग रहा था कि जो कहा जा रहा है वह सही है।

पुलिस सूत्र के अनुसार बिजनेसमेन गुप्ता क्लब संचालक भी हैं। इस मामले में पारधी को मास्टरमाइंड माना जा रहा है। उसने मिश्रा को क्लिप भेजी भी। मिश्रा , सुयोगनगर अजनी में रहता है। गुप्ता कामठी रोड पर आटोमोटिव चौक के पास रहता है। साइबर सेल की टीम ने 35 लोगों से पूछताछ की थी। कई लोगों ने इस क्लिप के बारे में साइबर सेल से शिकायत की थी। साइबर सेल के उपनिरीक्षक विशाल माने, केशव वाघ व अश्विनी जगताप ने मामले का खुलासा किया। पुलिस आयुक्त भूषणकुमार उपाध्याय,सह आयुक्त रवींद्र कदम, अपर आयुक्त क्राइम ब्रांच नीलेश भरणे, उपायुक्त श्वेता खेडकर ने मार्गदर्शन किया।