Published On : Tue, Jan 28th, 2020

मानकापुर स्टेडियम पर 123 करोड़ रुपए होंगे खर्च – सुनील केदार

नागपुर– आने वाले एक साल के भीतर मानकापुर विभागीय क्रीड़ा संकुल और भी नई सुविधायें के साथ नजर आयेगा। इसके लिए सरकार 123 करोड़ रुपये खर्च करेगी। महाराष्ट्र के क्रीड़ा व युवा कल्याण मंत्री सुनील केदार ने सोमवार को यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि महानगर नागपुर के उक्त क्रीड़ा संकुल में अब भी कई सुविधाओं की कमी है. हमने निर्णय लिया है कि यहां स्वीमिंग पूल, हाकी मैदान पर टर्फ समेत अन्य कई खेल सुविधायें शामिल हों।

उन्होंने कहा कि दूसरे शब्दों में कहूं तो मानकापुर स्टेडियम का अपग्रेडेशन किया जायेगा और इसके लिए मंत्रालय और विभागस्तर पर काम शुरू हो चुका है। यह पूछने पर कि स्टेडियम का अपग्रेडेशन की समय सीमा क्या है। उन्होंने कहा कि हम यह काम 20-20 के अंदाज में करेंगे और यही हमारी डेडलाइन है। यानि वर्ष 2020 में ही हम इन 123 करोड़ का काम पूरा करके दिखायेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि इस बात का पूरा ध्यान रखा जायेगा कि शहर में निर्माणाधीन साई सेंटर और मानकापुर स्टेडियम में दी जा रहीं सुविधायें एक जैसी न हों।

इस अवसर पर केदार ने एक बड़ी घोषणा भी की. उन्होंने कहा कि हाल ही में संपन्न हुए ‘खेलो इंडिया खेलो’ में महाराष्ट्र ने पहला स्थान हासिल किया है। राज्य के 399 खिलाड़ियों ने पदक जीते। इन खिलाड़ियों को सरकार की ओर से कुल 3,06,25,000 रुपये की पुरस्कार राशि वितरित की जाएगी। यह पहली बार है जब खेलो इंडिया के पदक विजेताओं को राज्य सरकार की ओर से प्रोत्साहन दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के स्वर्ण पदक विजेताओं को 1 लाख, रजत पदक वालों को 75,000 तथा कांस्य पदक जीतने वालों को 50,000 रुपये की नकद पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि राज्य के खेल मंत्रालय के इतने बड़े निर्णय की घोषणा मैं नागपुर में बैठकर कर रहा हूं और आगे भी यह क्रम जारी रहेगा. राज्य के खेल जगत को नागपुर के महत्व का भान होगा।

बड़ी प्रतियोगिताओं के लिए शहर से अन्य शहर जाने वाले खिलाड़ियों को कन्फर्म रिजर्वेशन न होने से सफर के दौरान काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। इसमें सबसे अधिक परेशानी महिला खिलाड़ियों को होती है। इस बारे में उन्होंने मान्य किया कि विषय काफी गंभीर है और खिलाड़ियों के हित का है। उन्होंने कहा कि रेल मंत्री से इस बारे में चर्चा करूंगा कि ट्रेनों में खिलाड़ियों का सफर बेहतर बनाने की क्या व्यवस्था की जा सकती है। मेरा प्रयास होगा कि हर खिलाड़ी को कन्फर्म सीट मिले।