Published On : Fri, Jun 11th, 2021

15 जुलाई तक 10वीं का परिणाम

नागपुर. 10वीं का परिणाम तैयार करने के लिए सरकार द्वारा दिशानिर्देश जार किए गए हैं. छात्रों का स्कूल स्तर पर मूल्यांकन कर ऑनलाइन व ऑफलाइन पद्धति से परीक्षा मंडल को प्रस्तुत करना है. इसके लिए मुख्याध्यापकों को 10वीं के 7 शिक्षकों की समिति बनाने के निर्देश दिए गए हैं. परिणाम 15 जुलाई तक घोषित किए जाने संबंधी नियोजन किया जा रहा है.

10वीं के परिणाम के लिए छात्रों का 9वीं का परिणाम, यूनिट टेस्ट और 10वीं का परफामेंस देखा जाएगा. स्कूल स्तर पर शिक्षकों की समिति छात्रों का मूल्यांकन करेगी. बाद में शिक्षा विभाग द्वारा मूल्यांकन की पड़ताल की जाएगी. परिणाम तैयार करने के लिए ९वीं व 10वीं के लिए संशोधित मूल्यांकन योजना शासन निर्णय 08 अगस्त 2019 के अनुसार बनाना है.

परिणाम 100 अंकों के आधार पर बनाया जाएगा. परिणाम तैयार करते समय सभी बिंदुओं का पालन होना अनिवार्य है. यदि स्कूलों द्वारा नियमों का पालन नहीं किया गया तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जा सकती है. यदि परिणाम में फेरबदल किया गया तो स्कूलों की मान्यता भी रद्द की जा सकती है. साथ ही बोर्ड का सांकेतिक क्रमांक भी रद्द किया जा सकता है.

खिलाड़ियों को मिलेंगे अंक
कोविड की वजह से शालेय स्तर पर कोई भी स्पर्धा नहीं हुई. इस वजह से माना जा रहा था कि खेल अंक नहीं मिलेंगे. यदि छात्रों द्वारा शैक्षणिक सत्र 2019-20 में हिस्सा लिया हो तो उन्हें सुविधा मिलेगी. जिला स्तर पर प्रावीण्य 5 अंक, विभाग स्तर पर शामिल होने पर 5 अंक, प्रावीण्य 10 अंक, राज्य स्तर के लिए 10 अंक, प्रावीण्य 15 अंक और राष्ट्रीय स्तर पर शामिल होने पर 15 अंक, प्रावीण्य 20 अंक और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शामिल होने पर 20 अंक मिलेंगे. इसके लिए छात्रों को प्रतिज्ञापत्र भरकर देना होगा.