Published On : Thu, Jul 31st, 2014

हिंगनघाट : ट्रक ने आॅटो रिक्शा को उड़ाया, दो की मौत


12 घायल महिला मजदूरों में 5 की हालत गंभीर

हिंगनघाट

स्थानीय गाडगेबाबा वार्ड से कृषि कार्य के लिए महिला मजदूरों को ले जा रहे एक आॅटो रिक्शा को विपरीत दिशा से आ रहे एक अज्ञात ट्रक ने उड़ा दिया. इस भीषण दुर्घटना में दो महिला मजदूरों की मौत हो गई जबकि अन्य 12 मजदूर घायल हो गर्इं, जिसमें से 5 महिलाओं की हालत गंभीर बताई जाती है. सभी घायलों का इलाज सेवाग्राम और सावंगी मेडिकल अस्पताल में किया जा रहा है. दुर्घटना आज 31 जुलाई की सुबह 9 बजे के आसपास हैदराबाद राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 7 पर सुगुणा प्लांट के समीप घटी.

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय गाडगेबाबा वार्ड के तेलीपुरा चौक और निशानपुरा इलाके की महिलाएं कृषि काम के लिए रोज सुबह विभिन्न वाहनों से विभिन्न गांवों में जाती हैं. आज सुबह कब्रस्तान परिसर निवासी आॅटो चालक अप्पू अख्तर के आॅटो क्रमांक एमएच 32 सी 9041 से 14 मजदूर महिलाएं आर्वी (छोटी) के लिए निकलीं. तभी सुगुणा के निकट आॅटो रिक्शा को विपरीत दिशा से आ रहे एक अज्ञात ट्रक ने उड़ा दिया. आॅटो में बैठी श्रीमती सुनंदा संतोषराव मसकर (49) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से जख्मी सास-बहू में से सास श्रीमती विमल कृष्णाजी पिंपलशेंडे (65) की सेवाग्राम अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई.

अन्य जख्मियों में श्रीमती रजनी गुलाब पिंपलशेंडे निशानपुरा, श्रीमती संगीता खिलेकर (45), श्रीमती छाया वरघणे (35), श्रीमती उषा ईश्वर गुरुनुले (32), श्रीमती मंगला कुबडे (42), श्रीमती लता दिलीप ठोंबरे (40), श्रीमती सावित्रीबाई ठाकरे (40), श्रीमती बेबी रूपचंद सुरकार (50), श्रीमती रेखा सुरेश वाघमारे (42), श्रीमती लक्ष्मी विश्वनाथ बरडे (50) , श्रीमती द्वारकाबाई कुबडे, श्रीमती गीताबाई नारायण दुबे (60) शामिल हैं.

घटना के बाद आॅटो चालक फरार हो गया. बुरी तरह से क्षतिग्रस्ता आॅटो में से महिलाओं की चप्पलें, खाने के डिब्बे, मुंह पर बांधने वाले कपड़े दुर्घटना की पूरी कहानी बयान कर रहे थे. दुर्घटना की जानकारी मिलते ही सैकड़ों लोग स्थानीय उपजिला रुग्णालय के पास जमा हो गए थे.

Representational Pic

Representational Pic