Published On : Wed, Apr 30th, 2014

सावली : हादसों को न्यौता देते ओवरलोडेड प्रवासी वाहन


सावली

सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ी ; पुलिस प्रशासन की अनदेखी

पिछले कुछ समय से शहर मे अवैध रूप से आवाजाही करने वाले वाहनों की संख्या काफी बढ़ गई है. ये अवैध प्रवासी वाहन ठूंस ठूंस के यात्री भरते है. इसके कारण सड़क दुर्घटनाओं मे इज़ाफ़ा हुआ है. लेकिन इस गंभीर मुद्दे की तरफ पुलिस विभाग का कोइ ध्यान नहीं है. ट्रैफिक सुचारु रूप से चले इसलिए ट्रेफ़िक पोलिस नियुक्त किए जाते है. लेकिन सावली शहर में सालों से महज़ एक ही ट्रैफिक पुलिस की नियुक्ति हुई है. शहर में वाहतूक पुलिस नहीं होने के कारण ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गई है और नियमों का पालन नहीं होने के कारण हादसे बढ़ रहे है.

अवैध प्रवासी वाहन ठूंस ठूंस के यात्री भरके ट्रैफिक पुलिस के सामने से भी निकल जाएं तो ट्रैफिक पुलिस सादी सिटी तक नहीं बजाता. बैठने के लिए जगह नहीं मिले तो यात्रि गाड़ियों पर लटककर सफ़र तय कर रहे हैं लेकिन इस पर लगाम लगाने वाला कोई नहीं है.

शहर से गडचिरोली, मूल,गोंड़पिपरी, हराम्बा, पाथरी बाजार दिन कवठी, खेती, चारगांव आदि अनेक गॉंवों के लिए गाड़िया इसी तरह यात्रियों की जान जोखिम में डालकर सफ़र कर रही है. इसके अलावा इन गाड़ियों मे मिट्टी के तेल का इस्तेमाल भी धड़ल्ले से हो रहा है. ज़रूरी है की इस अवैध वाहतूक पर नियंत्रण किया जाए.

Representational Pic

Representational Pic