Published On : Thu, May 1st, 2014

सावली : शिक्षकों को नहीं मिला तीन महीनों का महंगाई भत्ता


सावली

सामदा, चिचगांव व अंतरगांव इन केन्द्रों के सरकारी शिक्षकों को तीन महीनों के महंगाई भत्ते का लाभ नहीं मिला है। सावली पंचायत समिती शिक्षण विभाग के गैरजिम्मेदार रवैये और धीमें कारोबार के चलते शिक्षक आपने महंगाई भत्ते से वंचित है.

सरकारी कर्मचारियों के वेतन में 1 जुलाई 2013 से वृद्धि की गई है और महंगाई भत्ता 70 प्रतिशत से बढ़ाकर 90 प्रतिशत कर दिया गया. 1 जुलाई 2013 से 30 सितम्बर 2013 इस कालावधी की बढ़ी हुई रकम नगदी रूप में देने का आदेश दिया गया था. पांच केन्द्रों के शिक्षकों को ये रकम दि गईं लेकिन सामदा, चिचगांव व अंतरगांव इन केन्द्रों के सरकारी शिक्षकों को जुलाई, अगस्त और सितम्बर इन तिन महीनो के महंगाई भत्ते से वंचित रखा गया है. जानकारी के मुताबिक़ लता साल्वे व सहायक लेखाधिकारी पचारे को बाकि महंगाई भत्ता नहीं मिला है. इसका कारण पूछे जाने पर जिला परिषद की ओर से आवंटन नहीं मिलने की बात कही जाती है. लेकिन आवंटन की मांग करके महंगाई भत्ता देने का प्रयास होता दिखाई नहीं देता. शिक्षकों की मांग है की मुख्य अधिकारी इस ओर ध्यान देकर शिक्षकों की समसयाओं का समाधान जल्द निकालें.

Representational Pic

Representational Pic