Published On : Thu, Apr 17th, 2014

सावली: मजदूरी के लिए किया कृषि अधिकारी का घेराव

 

18 मजदूरों को साल भर से नहीं मिला मेहनताना, 7 लाख रुपए रोके  

Pic-4सावली.

कृषि कार्यालय की मार्फ़त एक साल पहले सावली तालुका के व्याहाड (खुर्द) कृषि वाटिका का जो कार्य करवाया गया था, उसकी मजदूरी अब तक मजदूरों को नहीं मिली है. मजदूरी की मांग को लेकर इन मजदूरों ने एल्गार के नेतृत्व में बुधवार को मोर्चा निकाला और उपविभागीय कृषि अधिकारी का घेराव किया. अधिकारी ने बताया कि निधि के अभाव में मजदूरी रोकी गई है. इस जवाब से गुस्साए मजदूरों ने बाद में वहीं पर धरना शुरू कर दिया.

सावली तालुका के व्याहाड (खुर्द) में स्थित कृषि चिकित्सालय फल रोपवाटिका में रोपों की देखभाल और उनके पोषण आदि का कार्य 18 महिला-पुरुष मजदूरों ने किया था. उनकी मजदूरी 7 लाख रुपए बनती है, जिसका भुगतान एक साल से नहीं किया गया है. इसी से परेशान मजदूरों ने एल्गार की अध्यक्ष अधि. पारोमिता गोस्वामी के नेतृत्व में उपविभागीय कृषि अधिकारी एस. बी. काचोडे के कार्यालय का घेराव किया. बाद में नाराज कर्मचारियों ने वहीं पर धरना दिया.

आंदोलन में विजय सिद्धावार, विजय कोरेकार, अनिल मडावी, भास्कर आभारे, निलेश कन्नाके, किरण शेंडे, प्रवीण चिचघरे, घनश्याम मेश्राम, शहनाज़ बेग, दिनेश शर्मा, सपना कामड़ी, सूर्यकांत बुरांडे आदि सहित अनेक मजदूरों ने हिस्सा लिया.