Published On : Wed, Apr 9th, 2014

विकास कार्य पर भरोसा कर अपना प्रत्याशी चुने – वर्षा पटेल


praful-2गोंदिया.

जिन के पास विकास का कोई विषय नहीं वे लोग केवल काम करनेवालों पर टिका-टिप्पणीया करना जानते है | उनपर आप भरोसा करोगे ? नहीं, ऐसा हरगीज मत होने देना | जिनके पास विकास का कोई विजन नहीं है, वे केवल टिका कर सकते है, विकास नहीं| उक्त आशय के विचार वर्षा पटेल ने वक्त किये | वे गोंदिया तहसिल के ग्राम बनाथर में आयोजित प्रफुल पटेल के ग्राम बनाथर में आयोजित प्रफुल पटेल के प्रचार सभा में बोल रही थी |

उन्होंने आगे कहा की पिछले लोकसभा चुनाव में आपने प्रफुल पटेल को अपना संसद चुना | वे मंत्री बने | अपने पद का उपयोग कर विकास की अनेक योजनाये लाई | केंद्र सरकर की सीएसआर योजना अपने पडोसी जिले में मालूम तक नहीं है | उस योजनाके अंतर्गत भंडारा और गोंदिया जिले के लिए प्रफुल पटेल ने करोडो रुपयों की निधि विभिन्न कंपनियों से मंजूर करवाकर विकास के अनेक कार्य शुरू किये | केंद्र सरकार के नक्सलग्रस्त जिले की सूची में भंडारा और गोंदिया जिले का समावेश कर प्रति वर्ष 30 करोड़ रुपये मंजूर करवाए | विकलांग भाइयों के लिए शिविर लेकर उन्हें जीने में मददगार साबित हो ऐसी सामग्रिया वितरित की | प्रफुल पटेल के विकास के विकास कार्य अनगिनत है | इस लोकसभा चुनाव में प्रफुल पटेल के खिलाफ जो उम्मीदवार विरोधी दल से खड़े है, उन्होंने कौन से विकासकार्य किये हैं | यह बात ध्यान में रखकर आनेवाले 10 अप्रैल को भंडारा गोंदिया लोकसभा चुनाव में प्रफुल पटेल को भारी मतों से विजयी बनाये | इससे पूर्व वर्षा पटेल ने गोंदिया तहसील के अर्जुनी, चारगांव, मुरपार, गर्रा खुर्द अदि ग्रामों का दौरा कर नागरिकों से प्रफुल पटेल को विजयी करने की अपील की |

लहर से लोंगो की समस्या नहीं सुलझती: पटेल

भंडारा : भंडारा-गोंदिया लोकसभा चुनाव हेतु कांग्रेस, राष्ट्रवादी, पिरिपा व मित्र पार्टियों के उम्मीदवार प्रफुल पटेल ने भंडारा तहसील के सिल्ली, मानेगांव, खमारी, गुन्थारा, लाखोरी, मोहाड़ी में आयोजित सभा में विरोधी पार्टी के उम्मीदवार पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की कहा जा रहा है की लहर बहुत चल रही है किंतु हमें कही नहीं दिखाई दे रही | जिस लहर की बात लोग कर रहे है उस लहर पर सवार लोग जो कह रहे है उन लोगों ने अपने क्षेत्र के लिए क्या किया सोचने की बात है | पटेल ने कहा की मै बताना चाहता हूं की  लहर से लोंगो की समस्याएनहीं सुलझती, विकास की योजनाये नहीं मिलती | उसके लिए अपने क्षेत्र के लोंगो के प्रति काम करना पड़ता है | चाहे दिल्ली हो या मुंबई, काम करने के लिए लाखो कोशिशें करनी पड़ती है | भंडारा व गोंदिया जिले के रेलवे स्थानकों पर नामांकित रेलगाड़ियों के स्टापेज मिले | महाराष्ट्र एक्सप्रेस, विदर्भ एक्सप्रेस, छपरा एक्सप्रेस जो गोंदिया से शुरू हुई उसके लिए हमने प्रयास किए, लहर पर सवार लोंगो ने नहीं | विरोधी दल के लोंगो ने एक भी ट्रेन गोंदिया से शुरू की? एक भी ट्रेन का स्टापेज गोंदिया या भंडारा गोंदिया के रेल स्थानकों पर दिलवाया? विरोधी दल के लोंगों ने कोई छोटासा भी उद्योग शुरू करवाया? सिंचाई प्रकल्प के लिए स्वयं को नेता कहलानेवाले लोंगो ने प्रयास किया? इन सभी सवालों के जवाब नहीं है फिर वह किस विकास की बात करते है | मैं एक विचार लेकर काम करता हूं वह है विकास का विचार | पटेल ने कहा की जनता विकास के लिए मुझे वोट दे जिस पर वह खरा उतरेंगे | 10 अप्रैल को  लोकसभा चुनाव में भारी मतों से विजयी करने की अपील सभा में प्रफुल पटेल ने की |