Published On : Mon, Jul 14th, 2014

वरोरा : 6 हजार की रिश्वत लेते अभियंता रंगे हाथ पकड़ाया


कृषि जमीन को गैरकृषि करने के लिए मांगी थी घूस


वरोरा

लोकनिर्माण विभाग के उपविभाग वरोरा के स्थापत्य अभियांत्रिकी सहायक गजानन उमरे को आज 6000 रुपए की रिश्वत लेते भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (ए.सी.बी.) ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. उमरे ने कृषि जमीन को गैरकृषि करने की मंजूरी प्रदान करने के लिए रिश्वत की मांग की थी.

चंद्रपुर निवासी एक व्यक्ति ने वरोरा तालुका के चिनोरा के भूमापन क्रमांक 206/1 की 1.21 हेक्टेयर कृषि जमीन और भूमापन क्रमांक 206/2 की 2.30 हेक्टेयर जमीन को गैरकृषि जमीन के रूप में इस्तेमाल करने की अनुमति देने की मांग को लेकर उपविभागीय अधिकारी को 5 मई 2014 को अर्जी की थी. उसी तरह उपविभागीय अधिकारी के कार्यालय से संबधित विभागों को अनापत्ति प्रमाणपत्र पेश करने के लिए भी पत्र-व्यवहार किया गया था. उसके अनुसार फरियादी की खेत जमीन का प्रकरण लोकनिर्माण विभाग के उपविभागीय कार्यालय के स्थापत्य अभियांत्रिकी सहायक गजानन उमरे के पास आया.

उक्त काम के लिए उमरे ने फरियादी से छह हजार रुपयों की मांग की. इससे परेशान फरियादी ने ए.सी.बी. विभाग को शिकायत कर दी. आज प्लान बनाकर छह हजार रुपये लेते हुए उमरे को गिरफ्तार कर लिया गया. यह कार्रवाई पुलिस उपायुक्त वसंत शिरभाते, अपर पुलिस अधीक्षक मतकर, रोशन यादव, पुलिस उपअधीक्षक वी. पी. आचेवार, अजय भुसारी, सुरेद्र खनके, गजानन येरोकार, संदीप वासेकर, अरुण हटवार, मनोज पिदुरकर ने की.

Representational Pic

Representational Pic