Published On : Thu, Sep 4th, 2014

मोहाड़ी : तालुका के अनेक गांव डेंगू की चपेट में


प्रशासन उदासीन, न दवा का छिड़काव और न दवाओं की आपूुर्ति


मोहाड़ी (भंडारा)

मोहाड़ी तालुका के अनेक गांव डेंगू की चपेट में हैं. ग्राम करडी, पालोरा, मोहगांव देवी, रोहणा, कोथुर्णा जैसे गांवों में बुखार, उल्टी, पेट में दर्द, पेशाब घटना, रक्तस्त्राव, शांत रहना, मस्तिष्क में रक्तस्त्राव और शरीर के अलग-अलग हिस्सों से रक्तस्त्राव होने और जी मचलने जैसी शिकायतें आम हो गई हैं. डेंगू के बढ़ने से सरकारी और निजी दवाखानों में भीड़ भी बढ़ गई है.

येडीस नामक मादा मच्छर से होने वाला यह रोग वायरस से फैलता है. इससे बचाव के लिए ग्राम पंचायत और जिला प्रशासन द्वारा पानी से भरे डबरों और अन्य जल-जमाव वाले स्थानों पर दवा का छिड़काव किया जाना जरूरी होता है. लेकिन पूरे गांव में इन दिनों दवा का छिड़काव बंद पड़ा हुआ है. प्रशासन की उपेक्षा का ही यह परिणाम है. इतना ही नहीं, हर स्वास्थ्य उपकेंद्र और गांव के मुख्य स्थलों पर दवाओं की आपूर्ति के साथ ही डॉक्टरों की भी व्यवस्था की जानी चाहिए. मगर प्रशासन इस तरह से भी उदासीन बना हुआ है. लोग बीमार हो रहे हैं और मर भी रहे हैं. डेंगू की चपेट में आने वाले गांवों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है.

ओबीसी संग्राम परिषद के तालुकाध्यक्ष उमेश मोहतुरे ने कहा है कि अगर शीघ्र ही गांवों में दवा का छिड़काव और दवाओं की आपूर्ति नहीं की गई तो संगठन आंदोलन करेगा.

Representational Pic

Representational Pic