Published On : Wed, Apr 9th, 2014

महुआ फूल चुनने गई महिला की तेंदुआ ने जान ली

08chd16 B
ब्रह्मपुरी वनविभाग के काजलसर बीट की घटना 

मोठगांव-नेरी : ब्रह्मपुरी वनविभाग के तलोधी वनपरिक्षेत्र के नेरी उपकेंद्र के तहत आनेवाले काजलसर बीट में कल सुबह महुआ फूल चुनने गई एक महिला की एक तेंदुआ ने जान ले ली. मृतक महिला का नाम कविता श्यामराव चौधरी (45) है. इस घटना से आसपास के गांवों में भय का माहौल है.

मोठगांव के आसपास घना जंगल है. इस क्षेत्र के अधिकांश ग्रामीण खेती-किसानी के काम निपटने के बाद गर्मी के एक महीने महुआ फूल चुनने का काम करते हैं, ताकि दो जून की रोजी-रोटी चलती रहे. प्राप्त  जानकारी के अनुसार कविता चौधरी कल सुबह तड़के महुआ फूल चुनने के लिए जंगल में गई थी. अचानक झाड़ियों में छुपे तेंदुआ ने कविता पर हमला कर दिया. रास्ते से गुजरते एक व्यक्ति ने महिला की आवाज सुनी. उसने गांव वालों को घटना की जानकारी दी.
5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता का आश्वासन
देखते ही देखते पूरा गांव घटनास्थल पर पहुंच गया, मगर तब तक तेंदुआ महिला की जान ले चुका था. वनविभाग को घटना की जानकारी मिलते ही सहायक वनसंरक्षक, वनपरिक्षेत्र अधिकारी पी. एम. चौधरी, वनरक्षक तिरखुरे और जवले घटनास्थल पर पहुंचे. कविता के दस साल के बेटे सहित पूरा परिवार दहाड़े मारकर रोने लगा. वन अधिकारियों ने घटना का पंचनामा कर अंतिम संस्कार के लिए तत्काल 10 हजार की राशि सौंप दी. साथ ही 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का आश्वासन भी दिया.
वन्य प्राणियों का आतंक

जंगल से सटे गांवों में पिछले कुछ दिनों से वन्य प्राणियों ने आतंक मचा रखा है. फ़िलहाल महुआ फूल संग्रह का मौसम जोर-शोर से चल रहा है. ग्रामीण तड़के ही जंगल में चले जाते हैं. किसान अपनी जान हथेली पर रखकर काम कर रहे हैं, मगर वन विभाग को कोई चिंता नहीं है. वह वन्य प्राणियों के बंदोबस्त के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है. ग्रामीणों में वन विभाग के रवैये को लेकर रोष व्याप्त है.