Published On : Tue, Aug 5th, 2014

मलकापुर : …तो मलकापुर रेलवे स्टेशन पर रोकी जाएगी गीतांजलि एक्सप्रेस


स्टॉपेज रद्द करने की कोशिश का किया विरोध, रेल मंत्री को पत्र भेजा


मलकापुर

राष्ट्रीय मानव अधिकार संसाधन विकास संस्था के विदर्भ अध्यक्ष मोहनलाल राठी और जिलाध्यक्ष विजयकुमार डागा ने गीतांजलि एक्सप्रेस के मलकापुर के स्टॉपेज को रद्द नहीं करने की मांग की है. रेल मंत्री सदानंद गौडा को भेजे एक संयुक्त पत्र में कहा गया है कि घाट रेलवे प्रशासन के इस स्टॉपेज को रद्द करने को लेकर किए जा रहे प्रयास विदर्भ के साथ विश्वासघात हैं. संयुक्त पत्र में कहा गया है कि घाट रेलवे प्रशासन 1 अक्तूबर 2014 से इस स्टॉपेज को रद्द करने की तैयारी कर रहा है. अगर स्टॉपेज रद्द करने की कार्रवाई रेलवे वापस नहीं लेता है तो संस्था की ओर से 15 सितंबर 2014 को मलकापुर स्टेशन पर गीतांजलि एक्सप्रेस के सामने रेल रोको आंदोलन किया जाएगा.

मलकापुर रेलवे स्टेशन भुसावल विभाग के अंतर्गत आता है. मलकापुर नगरी को विदर्भ का प्रवेश द्वार माना जाता है. इसी के करीब राष्ट्रमाता जिजाऊ का जन्मस्थल सिंदखेड़राजा है. विश्व प्रसिद्ध खारे पानी का सरोवर लोणार भी यहीं है. विदेशी पर्यटक भी भारी संख्या में यहां आते हैं. मलकापुर स्टेशन इन सबके लिए सुविधाजनक होता है.

मलकापुर और आसपास के व्यापारी और यात्रियों का आना-जाना भी इसी स्टेशन से होता है, जो रेलवे की कमाई का एक साधन है. इन सारी बातों के मद्देनजर ही यहां पर गीतांजलि एक्सप्रेस का स्टॉपेज दिया गया था. राठी और डागा ने कहा है कि इस स्टॉपेज को रद्द करना विदर्भ और मलकापुर के साथ अन्याय और विश्वासघात है.

File pic

File pic