Published On : Sat, Sep 13th, 2014

भंडारा : मोटार वाहन निरीक्षक 9 हजार घूस लेते रंगे हाथ पकड़ाया


भंडारा

भ्रष्टाार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) भंडारा ने मोटार वाहन निरीक्षक विकास वसंतराव कावले को 9 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया. यह कार्रवाई 12 सितंबर को सवा 8 बजे रात में की गई. उसके खिलाफ देवरी थाने में मामला दर्ज किया गया है. ब्यूरो ने कावले से रिश्वत की रकम जब्त कर ली है.

एसीबी सूत्रों के अनुसार शिकायतकर्ता ने 21 अगस्त को भंडारा एसीबी में शिकायत की थी कि बुलढाणा जिले के मलकापुर निवासी राजपालसिंह राजपूत के कुल 16 ट्रक हैं और वे राजपूत की तरफ से देवरी चेकपोस्ट पर सीएफ के प्रति ट्रक एक हजार रुपए देकर उसकी रसीद लिया करते थे. वे यह काम पिछले पांच सालों से कर रहे थे. लेकिन जुलाई 2014 में देवरी चेकपोस्ट शिरपुर की नई इमारत में स्थानांतरित हो गया. उसके बाद अगस्त से सीएफ की रकम 1200 रुपए प्रति माह ली जा रही थी और उसकी रसीद नहीं दी जा रही थी.

शिकायतकर्ता के अनुसार जब उन्होंने मोटार वाहन निरीक्षक से इसकी रसीद मांगी तो उसने रसीद देने से साफ मना कर दिया और रसीद के लिए सीएफ के प्रति माह 2000 रुपए देने की मांग की. साथ ही यह भी कहा कि नई इमारत का खर्च आखिर निकलेगा कैसे. उसके लिए यह सब करना पड़ता है. मोटार वाहन निरीक्षक कावले ने शिकायतकर्ता ने 1200 रुपए के हिसाब से 16 ट्रकों के 19 हजार रुपए बतौर रिश्वत देने की भी मांग की. साथ ही सभी ट्रकों के नंबर भी देने को कहा.

इसके बाद शिकायतकर्ता एसीसी भंडारा के पास पहुंच गया. उसकी शिकायत की पड़ताल की गई जो सही पाई गई. पड़ताल के दौरान ही उसे 10 हजार रुपए दिए गए. बाकी रकम 12 सितंबर को देना तय हुआ. उसी के हिसाब से जाल बिछाया गया और 12 सितंबर की रात सवा 8 बजे कावले को 9 हजार रुपए की घूस लेते हुह रंगे दबोच लिया गया. कावले के खिलाफ देवरी पुलिस स्टेशन में विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Representational Pic

Representational Pic