Published On : Fri, Nov 28th, 2014

भंडारा : ..फिर जनता की भागीदारी सुनिश्चित कर अपनी शक्ति प्रदान करें

जि.प. अध्यक्ष वंदना वंजारी का आह्वान
भंडारा: ग्रामीण स्तर पर स्वच्छता को आंदोलन का रूप देना हो तो उसके लिए हमें स्वयं पहल करनी होगी। अधिकारी, कर्मचारियों को सर्वप्रथम अपने कार्यालय को स्वच्छ कर उसे शाश्वत रखना होगा। उसके बाद निजी तौर पर शुरूआत की गई स्वच्छता को ग्रामीण स्तर पर पहुँचाने के लिए लोगों को प्रेरित करें। केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित किए जा रहे स्वच्छ भारत मिशन को जनता की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए शक्ति प्रदान करें। उक्त विचारोत्तेजक आह्वान जिला परिषद की अध्यक्ष वंदना वंजारी ने किया है। वे जिला जल व स्वच्छता मिशन कक्ष, जि.प. भंडारा में मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल द्विवेदी के मार्गदर्शन में जि.प. की सभागृह में हाल ही में आयोजित विश्व शौचालय दिवस पर बोल रही थीं।

 

bhandara1

 

इस अवसर पर मंच पर महिला बाल कल्याण समिति सभापति रेखा भुसारी, कृषि व पशु संवर्धन समिति सभापति संदीप ताले, अर्थ व आरोग्य समिति सभापति संजय गाढवे, सदस्य महेन्द्र शेंडे, उके, समरीत, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी (पंचायत) सुधाकर आडे, उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी (महिला व बाल कल्याण) राठोड़, कार्यकारी अभियंता सतीश सुशीर व अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।

 

bhandara2

 

उन्होंने आगे कहा कि स्वच्छ भारत मिशन को कार्यान्वित ग्रामीण स्तर पर होने के लिए प्रत्येक को अपनी जवाबदारी निभानी पड़ेगी। मिशन को जनता का सहयोग का स्वरूप प्रदान कर स्वच्छ गांव, सुंदर गांव निर्माण करें। नागरिकों के जीवनचर्या में बदलाव लाने के लिए मिशन को सिर्फ कागजों तक सीमित न रख, इसके लिए जनप्रतिनिधि कार्यक्रम में भाग लें। साथ ही हर मंगलवार को कार्यालय की स्वच्छता विषय में पदाधिकारी देखें और दो घंटे कार्यालय व परिसर की स्वच्छता की ओर पूर्ण ध्यान केन्द्रित करें।