Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Aug 20th, 2014
    Vidarbha Today | By Nagpur Today Vidarbha Today

    ब्रम्हपुरी : फिल्मी स्टाइल में रिश्वत लेते पकड़ा गया कनिष्ठ अभियंता


    अपने ही पूर्व सहयोगी से मांगी थी 15 हजार की घूस


    एसटी बस में ले रहा था रिश्वत की रकम

    ब्रम्हपुरी

    Sanjay Baburaon Raut ACB Trap

    संजय बाबूराव राउत

    गटसाधन केंद्र कुरखेड़ा के कनिष्ठ अभियंता संजय बाबूराव राउत (42) को अपने ही एक पूर्व सहयोगी से 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एसटी बस में रंगेहाथ पकड़ लिया गया. यह गिरफ्तारी लगभग फिल्मी स्टाइल में की गई. सहयोगी कनिष्ठ अभियंता के 75 हजार रुपयों के बिल मंजूर करने की एवज में संजय ने रिश्वत की मांग की थी. इस कार्रवाई को चंद्रपुर एसीबी ने अंजाम दिया.

    नौकरी छोड़ी, करने लगे खेती
    प्राप्त जानकारी के अनुसार ब्रम्हपुरी तालुका के मेंडकी निवासी शिकायतकर्ता पहले गटसाधन केंद्र कोरची और कुरखेड़ा में कनिष्ठ अभियंता के बतौर काम करते थे. वर्ष 2012 में उन्होंने नौकरी छोड़ दी और अपने गांव में खेती के साथ ही चावल मिल का व्यवसाय चलाने लगे. शिकायतकर्ता 2007 से 2012 तक कुरखेड़ में तैनात था. उसी दौरान उन्हें सर्वशिक्षा अभियान के तहत कुरखेड़ा की जिला परिषद शाला में 60 शौचालयों के निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. 30 हजार रुपए प्रति शौचालय के हिसाब से उन्हें इस काम के लिए 18 लाख रुपए मिलने थे. शौचालयों के निर्माण के दौरान उन्होंने चरणबद्ध तरीके से 17 लाख 10 हजार रुपए उठा लिए थे. केवल 90 हजार रुपए मिलना बाकी था.

    विभाग से लेने थे 75,000 रुपए
    शिकायतकर्ता को उसी दौरान गटसाधन विस्तारीकरण के निर्माण कार्य की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी. निर्माण कार्य का 5 लाख का बिल था, जिसमें से 4 लाख 75 हजार रुपए उन्हें मिल चुके थे. 25 हजार रुपए मिलने बाकी थे. शिकायतकर्ता ने मार्च से सितंबर 2012 तक का यात्रा भत्ता भी मांगा था, जिसके 50 हजार रुपए का बिल लंबित था. यानी सब मिलाकर शिकायतकर्ता को 75 हजार रुपए अपने पूर्व विभाग से लेने थे. संजय राउत इसी बिल को मंजूर करने के बदले 15 हजार रुपए बतौर रिश्वत मांग रहा था.

    वडसा बस स्टैंड पर हुई गिरफ्तारी
    शिकायतकर्ता ने रिश्वत देने की बजाय भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (एसीबी) चंद्रपुर में शिकायत दर्ज कराना ज्यादा उचित समझा. विभाग ने भी शिकायत के बाद 20 अगस्त की शाम 5 बजे जाल बिछाया और राउत को पकड़ लिया. राउत ने शिकायतकर्ता से रिश्वत की राशि बोरी से गडचिरोली जाने वाली बस में वडसा बस स्टैंड पर लेकर आने को कहा था. आखिर एसीबी टीम ने फिल्मी स्टाइल में संजय राउत को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

    इन अधिकारी, कर्मचारियों ने दिया कार्रवाई को अंजाम
    पुलिस अधीक्षक प्रकाश जाधव और अपर पुलिस अधीक्षक एकब्यू नागपुर के मार्गदर्शन में एसीबी चंद्रपुर के रोशन यादव, पुलिस उपअधीक्षक अजय भुसारी, पुलिस निरीक्षक दामोदर एंडलवार और सुरेंद्र खनके, संदीप वासेकर, अरुण हटवार, मनोज पिटुरकर ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145