Published On : Thu, Jul 31st, 2014

बुलढाणा : दुपहिया वाहन को बचाने की कोशिश में मेटाडोर पलटा


5 मजदूर गंभीर, 27 को मामूली चोटें


बुलढाणा

Accident
सामने से आ रहे एक दुपहिया वाहन को बचाने की कोशिश में एक मेटाडोर रास्ते के नीचे जाकर पलट गया. आज 31 जुलाई की सुबह 10 बजे के आसपास वालसावंगी-पारध रास्ते पर शेंबा म्हसोबा के निकट हुई इस दुर्घटना में वालसावंगी के 5 मजदूर गंभीर रूप से जख्मी हो गए , जबकि 27 मजदूरों को मामूली चोटें आई.

गंभीर रूप से जख्मी मजदूरों में कृष्णा खरात, फकीरा सोनोने, आकाश वाघ, सुमन वाघ और आशा भागवत शामिल हैं. पांचों को औरंगाबाद भेजा गया है. विदर्भ और मराठवाड़ा की सीमा पर स्थित वालसावंगी के युवक, महिलाएं और लड़कियां समेत 32 मजदूर अशोक बोरमले के मेटाडोर क्रमांक एम. एच. 21 एक्स 4363 से अन्वा स्थित एक किसान के खेत में काम करने जा रहे थे. इस मेटाडोर के पीछे ही एक और मेटाडोर क्रमांक एम. एच. 21 -2442 भी कुछ मजदूरों को लेकर आ रहा था. शेंबा म्हसोबा के पास सामने से आ रहे एक दुपहिया वाहन को बचाने के प्रयास में एम. एच. 21 एक्स 4363 क्रमांक के मेटाडोर के चालक फकीरा सोनोने का गाड़ी पर से नियंत्रण छूट गया और मेटाडोर रास्ते से नीचे उतरकर पलट गया. इस दुर्घटना में अनेक मजदूरों के सिर और हाथ-पैर में चोटें लगीं. पीछे से आ रहे मेटाडोर से तुरंत जख्मी मजदूरों को जिला
सामान्य रुग्णालय पहुंचाया.

इतने सारे मरीजों को एक साथ देखते ही सामान्य रुग्णालय के डॉक्टर और अन्य कर्मचारियों में भी भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई. निवासी वैद्यकीय अधिकारी डॉ. अशोक हिवाले, डॉ. पंकज शिंगणे, डॉ. कमर खान, डॉ. उमेश बदर, डॉ. पंकज राठोड़ और डॉ. रविंद्र चव्हाण ने शीघ्रता के साथ घायलों का इलाज शुरू किया.