Published On : Thu, Oct 18th, 2012

बिना डरे करें पुलिस से शिकायत स्लम पुलिसिंग आरं – Nav Bharat

Advertisement

नागपुर. शहर में किसी तरह की सांप्रदायिक और राजनीतिक हिंसा न हो इसीलिए शहर पुलिस आयु€त का पदभार संभालने के बाद डा. अंकुश धनविजय ने सामाजिक सौहाद्र्रता बनाने के लिए जातीय सलोखा उपक्रम की शुरुआत की. इसमें वे काफी हद तक सफल भी हुए लेकिन शहर में बढ़ रहे अपराध ने पुलिस विभाग की नींद उड़ा दी है. वसंतराव नाईकनगर झोपड़पट्टी में अपराधी भुरू उर्फ अकरम शेख की गुंडागर्दी से परेशान होकर लोगों ने उसके भाई इकबाल की हˆया कर दी. इस ƒाटना ने पुलिस विभाग में ƒाूसखोरी की कलई खोल दी थी. सुरेंद्रगढ़ में 3 दिन पूर्व एक व्यापारी पर गोली दागी गई. भूमाफिया और बदमाशों के खिलाफ रोष स्लम बस्तियों में चल रही गुंडागर्दी पर प्रतिबंध लगाने के लिए अब सीपी ने स्लम पुलिसिंग का नया उपक्रम शुरू किया है. इस पर जनजागृति करने के लिए सीपी धनविजय खुद झोपड़पट्टियों में जाकर बैठक कर रहे हैं. बुधवार से इस उपक्रम की शुरुआत की गई. दोपहर 12 बजे के दौरान सुरेंद्रगढ़ झोपड़पट्टी और शाम 5.30 बजे के दौरान जगदीशनगर झोपड़पट्टी में नागरिकों के साथ बैठक ली गई. यहां भूमाफियाओं और असामाजिकतˆवों के खिलाफ लोगों ने रोष व्य€त किया. शाम 6.30 बजे के दौरान अंबाझरी की पांढराबोड़ी हिलटॉप परिसर में बैठक ली गई. नागरिकों ने गुंडों के खिलाफ रोष व्य€त करते हुए पुलिस चौकी बनाने की मांग की. यदि कोई अधिकारी शिकायत न लें तो डीसीपी या …वाइंट सीपी को शिकायत करने की अपील की. जितनी …यादा शिकायतें मिलेगी उतनी …यादा कठोर कार्रवाई पुलिस कर पाएगी. लोग डरकर शिकायत नहीं करेंगे तो पुलिस कुछ नहीं कर सकती. यदि नाम गुŒत रखना हो तो उसमें भी कोई दि€कत नहीं है लेकिन शिकायत जरूरी है. – अंकुश धनविजय सीपी रा˜िा गश्त में पुलिस रहेगी सतर्क सीपी ने उ‹हें बताया कि हर जगह पुलिस चौकी बनाना संभव नहीं है. यदि हर बस्ती से एक नागरिक रा˜िा को गश्त करें तो वे एक सशस्˜ा पुलिसकर्मी को साथ में तैनात करेंगे. उ‹होंने बिना डरे नागरिकों से अपराधियों की शिकायत करने को कहा. यदि कोई अधिकारी शिकायत न लें तो डीसीपी या …वाइंट सीपी को शिकायत करने की अपील की. उ‹होंने कहा कि जितनी …यादा शिकायतें मिलेगी उतनी …यादा कठोर कार्रवाई पुलिस कर पाएगी. लोग डरकर शिकायत नहीं करेंगे तो पुलिस कुछ नहीं कर सकती. यदि नाम गुŒत रखना हो तो उसमें भी कोई दि€कत नहीं है लेकिन शिकायत जरूरी है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisementss
Advertisement
Advertisement
Advertisement