Published On : Thu, Apr 24th, 2014

नरखेड़ पैसेंजर ट्रेनों के लिए पुरानी दर की टिकटों से बढ़ रहा विवाद

मरावती: नरखेड़ रेलमार्ग पर चलने वाली ट्रेनों में यात्रियों को अभी भी मैन्युअल‘ टिकट दिए जाने से रेल अधिकारी और यात्रियों के बीच रोज विवाद हो रहे हैं
नया अमरावती (अकोलीसे नरखे तक भुसावलनरखे और नया अमरावती से नरखे,दो पैसेंजर ट्रेन चलती हैंइसके अलावा जयपुरसिकंदराबाद और इंदौरयशवंतपुरम एक्सप्रेस चलती हैपैसेंजर ट्रेन के हर छोटेड़े स्टेशन पर स्टापेज हैंजबकि दोनों एक्सप्रेस ट्रेन के चांदुर बाजार में स्टापेज हैंजब से पैसेंजर ट्रेन इस नए रेलमार्ग पर आरंभ हुई हैतब से यात्रियों को मैन्युअल‘ टिकट ही दिए जा रहे हैंइन टिकटों पर पुरानी दर ही अंकितहोता है.
इस कारण हर दिन यात्रियों की रेल अधिकारी से बहस होती हैपुरानी दर के टिकट यात्री को थमा कर नए दर के हिसाब से पैसे वसूले जाते हैंसाथही यह मैन्युअल‘ टिकट कम पने पर आपात स्थिति में पेपर टिकट भी बनाना पड.ता हैइसमें अधिकारी को समय भीलगता हैलेकिन अभी तक रेल प्रशासन द्वारा इस ओर कोई कदम नहीं उठाए गए हैं.

जब से नरखे रेलमार्ग पर पैसेंजर ट्रेन आरंभ हुई हैतब से यात्रियों का इस ट्रेन को भारी प्रतिसाद मिल रहा हैरेलवे सूत्रों के मुताबिक चांदुर बाजारमोर्शीवरु जैसे बड़े स्टेशनोंसे हर प्रति दिन लगभग10-10 हजार रुपए के टिकट कट रहे हैंइसके बावजूद रेल प्रशासन टिकटों की समस्या सुलझाने में विफल है.