Published On : Thu, May 29th, 2014

चिमूर : गर्भपात के लिए 2 हज़ार की रिश्वत लेते धारा गया डॉक्टर


ग्रामीण रुग्णालय की घटना

चिमूर

Anti correption
ग्रामीण रुग्णालय के वैद्द्कीय अधिक्षक डॉ. नितीन उईके (38) को अस्पताल में आई एक महिला से गर्भपात के लिए रिश्वत लेते पकड़ा गया. नागपुर एंटी करप्शन विभाग ने 2 हज़ार की रिश्वत लेते है डॉक्टर को रंगे हाँथ पकड़ा.

मिली जानकारी के मुताबिक़ खंडाला की एक महिला छोटा बच्चा रहते हुए फिर से गर्भवती हो गई थी और इसीलिए गर्भपात करवाने के लिए वो ग्रामीण रुग्णालय चिमूर गई जहाँ उसे भर्ती किया गया था. वैद्द्कीय अधिक्षक डॉ. नितीन उईके ने इसके लिए दंपत्ति से 2 हज़ार रूपए की रिश्वत मांगी. ये बात महिला के पति को खटकी और उसने नागपुर एंटी करप्शन विभाग में इसकी शिकायत की. शिकायत के बाद विभाग ने ग्रामीण रुग्णालय चिमूर में जाल बिछाया और जब डॉ. नितीन उईके महिला के पति से 2 हज़ार रिश्वत ले रहा था तभी उसे रंगे हाँथ पकड़ लिया गया.

चिमूर पुलिस थाने में एंटी करप्शन अधिनियम प्रतिबंधक कायदे के अनुसार कलम 7, 13 (1) के अनुसार मामला दर्ज़ कर डॉ. नितीन उईके को गिरफ्तार कर लिया गया है. गौरतलब है की इसके पहले चिमूर शहर में स्त्रीभ्रूण ह्त्या प्रकरण में एक प्रायवेट डॉक्टर का क्लीनिक सील किया गया था.