Published On : Sat, Jun 21st, 2014

चिमुर : घूसखोर डॉक्टर नितिन उईके की सेवा समाप्त


2 हजार की रिश्वत लेते पकड़े गए थे रंगे हाथ


अस्पताल में गभर्पात कराने के लिए मांगी थी घूस


चिमुर

Dr. Nitin स्थानीय ग्रामीण रुग्णालय के वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. नितिन उईके को भ्रष्टाचार निरोधक विभाग के अधिकारियों द्वारा 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार करने के बाद उनकी सेवा समाप्त कर दी गई है. डॉ. उईके ने रुग्णालय में ही गभर्पात कराने के लिए रिश्वत ली थी. नई नियुक्ति होने तक डॉ. समीर पाटिल को वैद्यकीय अधीक्षक पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

चिमुर ग्रामीण रुग्णालय के वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. नितिन उईके ने तालुका के ग्राम खंडाला के किशोर गुरुले की पत्नी का गभर्पात कराने के लिए 2 हजार रुपयों की रिश्वत मांगी थी. इसकी शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक विभाग नागपुर को करने के बाद जाल बिछाकर डॉ. उईके को रंगेहाथ रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया. इसके उपरांत इस प्रकरण की जांच के बाद स्वास्थ्य विभाग ने डॉ. नितिन उईके की सेवा समाप्त कर दी.