Published On : Wed, Jul 23rd, 2014

गड़चिरोली : 36 घंटों से बारिश का कहर जारी,पर्लकोटा नदी के पुल पर साढ़े सात फुट पानी

Advertisement


वैरागड़-मानापुर मार्ग बंद,कठाणी नदी में भी बाढ़ आने की संभावना

नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया

गड़चिरोली

Advertisement
Advertisement

baadh
विगत 36 से हो रही लगातार बारिश की वजह से जिले का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. भामरागड़ के पर्लकोटा नदी के पुल पर से पानी बहने से पल पर आवाजाही बंद है. बाढ़ का पानी गांव में घुस जाने से लगभग 200 नागरिकों को सुरक्षित स्थल पर पहुंचाया गया है.

उल्लेखनीय है कि, पर्लकोटा नदी के पुल के ऊपर से कल सुबह से ही पानी बह रहा है. इस वजह से काम पर आये कर्मचारी हेमलकसा में ही अटक गए है. लगातार हो रही वारिश से पल पर पानी का स्तर बढ़ जाने से आज पुल पर साढ़े सात फुट पानी बह रहा है. भामरागढ़ के मुख्य चौक में बाढ़ का पानी घुस आने से यहां के 200 से अधिक नागरिकों को सुरक्षित स्थल शालाओं में ठहराया गया है. इतना ही नहीं बाढ़ की वजह से कल से ही बिजली की आपूर्ति भी खंडित है. आरमोरी तहसील में कम ऊचांई वाले वैलोचना नदी के पुल पर से पानी बहने से वैरागड़-मानापुर मार्ग बंद हो गया है. इसके दरम्यान गोसेखुर्द प्रकल्प के 22 गेट खोल दिए गए हैं.

अधिक जानकारी के अनुसार यहां से 3906 क्यूसेक छोड़ा गया है. आगामी 24 घंटों में गढ़चिरोली के काठणी,चामोर्शी मार्ग के पोटफोड़ी आरमोरी के गाड़वी व कुरखेड़ की सती नदी में बाढ़ आने की संभावना बढ़ गई है. पिछले 24 घंटों में जिले में कुल 71702 मिली मीटर बरसात रिकार्ड की गई है. कोरची तहसील में सर्वाधिक 17706 मिली मीटर बारिश रिकार्ड की गई है. इसके अतिरिक्त कुरखेड़ में 10001 धानों में तथा देसाईगंज में 672 मिली मीटर बरसात रिकार्ड की गई है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement