Published On : Thu, Jun 26th, 2014

गोंदिया : राष्ट्रवादी कांग्रेस द्वारा धान के समर्थन मुल्य में मात्र 50/- रूपये वृद्धि करने का विरोध


केन्द्रीय कृषि मंत्री को धान के समर्थन मुल्य और वृद्धि करने प्रेषित किया ज्ञापन

गोंदिया

केंद्र शासन द्वारा धान की हमी भाव (समर्थन मुल्य) में मात्र 50/ रूपये की बढ़ोत्तरी की गई है. किसानों के हित की बात करनेवाले भारतीय जनता पार्टी के नेता यु.पी.ए. के शासन काल में धान का भाव 2500/- 3000/- करने की मांग करते हुए मोर्चे निकालते थे. चुनाव के दौरान केंद्र में भाजपा की सरकार आने पर किसानों को 3000/- धान समर्थन मुल्य देने की बात कहकर किसानों को भ्रमित करनेवाले नेता अभी खुद केंद्र शासन की सत्ता सहभागी है. भाजपा का शासन आने पर नागरिकों-किसानों के अच्छे दिन आयेंगे का नारा देनेवाले भारतीय जनता पार्टी के नेता किसानों के हित में क्या इसी प्रकार के निर्णय लेकर उनके अच्छे दिन लायेंगे. आज जब महगांई आसमान छु रही है उस समय धान की फसल का समर्थन मुल्य 1310/- से 50/ बढाकर 1360/ रूपये करना क्या किसान के हित में है? देश में आज की तारीख में महंगाई दर 10 प्रतिशत के आसपास है.

केंद्र शासन ने रासायनिक खत के भावो में भारी वृद्धि की है. इसी प्रकार से रेल्वे भाडा, चीनी के भावों में वृद्धि और आने वाले कुछ समय में केंद्र शासन अन्य जीवनावश्यक वस्तुओं के दामों में वृद्धि करने का निर्णय लेकर जनता के ऊपर थोपने वाली है. क्या इसी प्रकार किसानों व नागरिकों के अच्छे दिन आने की शुरूवात होंगी. राष्ट्रवादी कॉग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष विनोद हरिनखेडे तथा पक्ष के समस्त घटक प्रमुखो ने देश के प्रधानमंत्री व केंद्रीय मंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर धान के समर्थन मुल्य में मात्र 50/- रूपये बढोत्तरी करने का निर्णय लेने पर विरोध जताया है तथा धान का समर्थन मुल्य बढ़ाने के निर्णय पर पुर्न विचार कर इसमें वृद्धि करने की मांग केंद्र शासन से की है.

ncp-logo