Published On : Tue, May 20th, 2014

गोंदिया : धान खरीद केंद्र मुद्दे पर भाजपा ने किया जिलाधिकारी का घेराव


तीन दिन में केंद्र शुरू न होने की सूरत में भाजपा करेगी तीव्र आंदोलन

गोंदिया

BJP Dhaan Sabha 2
गोंदिया जिला धान उत्पादक जिला है. यहां के किसानो का आर्थिक उत्पन्न धान की फसल पर निर्भर है. खरीफ हंगाम में हुई अतिवृष्टि के कारण किसानों के हाथ खाली है और उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा है. उनके पास अब केवल रबी की फसल का ही सहारा था और किसानों ने जिले में 20 हज़ार हेक्टेयर में रबी की फसल ली. लेकिन फिर एक बार आसमानी संकट आया और ओलावृष्टि ने फसल को काफी हद तक बर्बाद कर दिया. बची खुची रबी फसल को किसान बेचने के लिए निकले लेकिन सरकार के अन्न, नागरी आपूर्ति व ग्राहक संरक्षण विभाग ने 8 मई को धान खरीद केंद्र बंद करने के आदेश निकाले और 15 मई से मार्केटिंग फेडरेशन व आदिवासी विकास महामंडल अंतर्गत आने वाले केन्द्रों को बंद कर दिया गया.

BJP Dhaan Sabha 1
इस निर्णय का पूरा फायदा व्यापारियों को मिल रहा है और किसानों को धान मजबूरन कम कीमत पर बेचना पड रहा है. कीसानो की मजबूरी का फायदा उठाकर व्यापारी 1000 रूपए प्रति क्विंटल से भी कम दाम में धान खरीद रहे हैं. कीसानो का फसल उपज में लगा खर्च भी नहीं निकल पा रहा. इसलिए सरकार का ये कीसानो के प्रति अन्यायकारक निर्णय वापस लेने की मांग उठ रही है. भाजपा ने तीन दिन में धान खरीद केंद्र शुरू नहीं होने की सूरत में तालुका स्तर पर तीव्र आंदोलन करने की जानकारी भाजपा गोंदिया जिला अध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने दी.

BJP Dhaan Sabha