Published On : Wed, Jun 4th, 2014

गोंदिया : डॉक्टरों की हड़ताल मरीज परेशान

 
गोंदिया

docters strike
महाराष्ट्र राज्यपत्रिक वैद्यकीय अधिकारी संगठन (मेग्मो) से जुडे जिला केटीएस जिला महिला तथा विविध ग्रामीण अस्पतालों में कार्यरित कुल 123 ब गट के वैद्यकीय अधिाकारियों के हड़ताल पर चले जाने से स्वास्थ्य सेवा पर गंभीर असर पड़ा है.

जिला केटीएस और बीजी डब्ल्यु अस्पताल में भर्ती मरीजों की जांच उपचार और उनके ऑपरेशन के लिये भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. चिकित्सकों के हड़ताल पर जाने के कारण स्वास्थ्य सेवा को दुरूस्त करने की कवायद में बीएएमएस आर्हता प्राप्त चिकित्सकों की सेवायें ली जा रही है. डॉक्टरों के हड़ताल के चलते जिला कुंवरतिलक सिंह अस्पताल के शवविच्छेदन गृह में पड़ा एक महिला और पुरूष के शव का पोस्टमार्टम सिर्फ इसलिये नही हो सका क्योंकि चिकित्सक उपलब्ध नही थे.

गौरतलब है कि विविध मांगो को लेकर मेग्मो से जुड़े वैद्यकीय अधिकारियों ने वर्ष 2011 में आंदोलन किया था. लेकिन उनकी मांगो पर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गौर नही किया गया एैसा आरोप लगाते हुये केटीएस अस्पताल के परिसर में हड़ताल पर बैठे चिकित्सकों ने अपनी मांगों के समर्थन में ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंप दिया है. धरना आंदोलन तथा ज्ञापन सौंपने गये प्रतिनिधि मंडल में मैग्मो के कार्याध्यक्ष डॉ. सी.आर. टेंभुर्णे, राज्य प्रतिनिधी डॉ. विनोद वाघमारे, दंत चिकित्सक डॉ. मनिष बत्रा, डॉ. मनोज राऊत, डॉ. अजय घोरमारे, डॉ. तृप्ती कटरे, डॉ. ओमप्रकाश धोटे, डॉ. रघटाटे, डॉ. अश्विन, डॉ. भुमेश्वर पटेल, डौ. योगेश सोनारे, डॉ. स्मिता भुते आदि का समावेश था.