Published On : Tue, Feb 18th, 2014

गढ़चिरौली / देवरी: पुलिस मुठभेड़ में 7 नक्सली ढेर; मारा गया कमांडर लालसू

Naxal-1
गढ़चिरौली / देवरी

छत्तीसगढ़ से सटे महाराष्ट्र की सीमा पर राज्य पुलिस के साथ ढाई घंटे तक चली मुठभेड़ में सात नक्सली मारे गए। यह जानकारी पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को दी। यह विदर्भ इलाके के गढ़चिरौली जिले में नक्सल विरोधी अभियान में महाराष्ट्र पुलिस को मिली बड़ी सफलता है, जो सालों से नक्सलवादियों का गढ़ रही है। गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक एस हक ने कहा कि मुठभेड़ गढ़चिरौली-गोंदिया सीमा के नजदीक बेधकटी इलाके के घने जंगल में सोमवार देर रात लगभग 11.30 बजे हुई।

पुलिस का कहना है कि माओवादियों को जब आत्मसमर्पण करने को कहा गया, तो उन्होंने पुलिस पर गोलीबारी शुरू की। जिसके बचाव में पुलिस ने गोलीबारी की की जिसमें सात माओवादी मारे गए। आला अधिकारी के मुताबिक मौके से सात हथियार भी बरामद किए है। मुठभेड़ में मारे गए छह माओवादियों की पहचान हो चुकी है। मरने वालों में नॉर्थ गढ़चिरौली-गोंदिया डिविजनल कमेटी मेंबर लालसू, लगीन, प्लाटून क्रमांक 56 का कमांडर उमेश, वीरू के साथ चमको और रून्नीबाई यह दो महिला माओवादी शामिल हैं।

Naxal-2

एक की शिनाख्त होनी अभी बाकी है। पुलिस को मौके से एक एके-74, दो एसएलआर, एक कार्बाइन, एक 303 बंदूक, एक 12 बोर बंदूक और एक पिस्तौल बरामद किया। कोरची तहसील में पिछले साल महीनों से कोई भी माओवादी गतिविधि नहीं थी। पुलिस के अनुसार उनके अनुसार, “खुर्सापार ग्राम पंचायत के कागजात जलाना एक प्रयास था जिससे पूरे माओवादी अपनी दहशत फिर से कायम कर सकें। मुठभेड़ के बाद पुलिस टीमों ने पूरे इलाके में सघन अभियान शुरू कर दिया है। वहीं गढ़चिरौली और गोंदिया पुलिस द्वारा चलाए गए संयुक्त अभियान में चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Naxal-3