Published On : Sun, Jun 1st, 2014

गडचिरोली : बेलगाँव में पूर्व जमींदार को नक्सलियों ने गोलियों से भुना

 

टिप्पागड़ दलम की घटना , हफ्तेभर के भीतर तीसरी हत्या

गडचिरोली

टिप्पागड़ दलम के सशस्त्र नक्सलियों ने कल रात 9:30 बजे के करीब धानोरा तालुका के मुरुमगाँव पुलिस थाने के अंतर्गत आनेवाले बेलगाँव के पूर्व जमींदार जितेंद्रशाह मडावी(45) की गोलियों से भूनकर ह्त्या कर दी. इस घटना से परिसर में दहशत का वातावरण निर्माण हुआ है.

बेलगांव धानोरा-मुरुमगाँव मार्गपर मुरुमगाँव से एक कि.मी. दूरी पर है. कल रात को जितेंद्रशाह भोजन के बाद पान टपरी पर पान खाने के लिए गए वहीं चार-पाँच नक्सलि उन्हें उठा ले गए. जितेंद्रशाह ने भागने की कोशिश की लेकिन नक्सलियों के विभागीय समिति के सदस्य सृजनक्क़ा व गिरिधर के नेतृत्व में नक्सलियों ने चारो तरफ से नाकाबंदी की थी. इस वजह से जिंतेंद्रशाह नक्सलियों के चंगुल से बच नहीं पाए.  नक्सलियों ने तुरंत जिंतेंद्रशाह को गोलियों से भूनकर उनकी हत्या कर दी. घटनास्थल पर पुलिस को 3 बुलेट्स मिलने की जानकारी मिली है. आज सुबह जितेंद्रशाह के परिवार को मुरुमगांव पुलिस पुलिस ने घटना की जानकारी दी. परंतु वहां के पुलिस बहार नहीं निकले. उपरान्त जितेंद्रशाह के परिवार के सदस्यों ने ही एम्बुलन्स से शव को धानोरा लाया और पोस्टमार्टम किया गया.

जितेंद्रशाह मडावी के पूर्वज जमींदार थे. गांव में सब जिंतेंद्रशाह को पूर्व जमीनदार के नाम से पहचानते थे. गौरतलब है की जितेंद्रशाह का नक्सलियों से अच्छे संबंध थे. परंतु नक्सलियों को शक हुआ की जितेंद्रशाह पुलिस की मदत कर रहे हैं. इस वजह से नक्सल के एक्शन दल के सदस्य जितेंद्रशाह की हरकतों पर नजर रखे हुए थे. एक-दो बार नक्सलियों ने उन्हें समझाया भी था. परंतु संदेह होने पर नक्सलियोंने उनकी हत्या कर दी ऐसी चर्चा हो रही है.

नक्सलियों ने हफ्तेभर के भीतर तिसरी ह्त्या को अंजाम दिया है. 25 मई को अहेरी तालुका के निमलगुडम के पूर्व जिला परिषद बपयु तलांडी की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी. उसके बाद 29 में को एटापल्ली पंचायत समिति के पूर्व सभापति घिसु मट्टानी पर भी गोलिया चलाकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया था. राजनैतिक नेता व प्रतिष्ठित नागरिकों का हत्यासत्र शुरू होने से नक्सलियों ने आज 1 जून को एटापल्ली तालुका के तोडसा गांव के समीप रास्ते के किनारे रोलर जलाने की जानकारी प्राप्त हुई है.

नक्सली ले गए जितेंद्रशाह का मोबाईल ?
जितेंद्रशाह की हत्या करने के बाद नक्सलियों ने उनका मोबाईल ले लिया है ऐसी जानकारी है. इस मोबाइल में वरिष्ठ पुलिस अधीकारी व अन्य व्यक्तियों के मोबाईल क्रमांक थे. यह सभी क्रमांक अब नक्सलियों को मिलने से अन्य व्यक्तियों की जान को ख़तरा निर्माण हो सकता है ऐसी चर्चा है.

Representational Pic

Representational Pic