Published On : Wed, Aug 13th, 2014

गडचिरोली : पृथक विदर्भ के लिए जनता का ‘टच’ नही – अजित पवार


गडचिरोली

Ajit Pawar (seprate vidarbha)
पृथक विदर्भ की मांग को लेकर कही वर्षो से विदर्भवादियों का संघर्ष चल रहा है. विभिन्न संगठनाओं द्वारा विदर्भ में अलग-अलग आंदोलन कर सरकार का ध्यानाकर्षण किया जा रहा है. पृथक विदर्भ के संदर्भ में राष्ट्रवादी कांग्रेस की क्या भूमिका है, यह सवाल पुछने पर राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि, इस आंदोलन में जनता का ‘टच’ नहीं है. जब विदर्भ की जनता इस आंदोलन में सक्रीय दिखाई देगी तब पार्टी की भूमिका स्पष्ट करेंगे. किसी राजनितिक प्रेरित आंदोलन से कोई मांग पूरी नहीं हो सकती ऐसा भी उन्होंने कहा.

गडचिरोली में अधिकारियों की जायजा बैठक लेने के बाद उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने मंगलवार 12 अगस्त को सर्किट हाउस में संवाददाता सम्मेलन में बताया की,राज्य सरकार गडचिरोली जिले के विकास के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. जिले के पालकमंत्री बनने के बाद गृहमंत्री आर आर पाटिल ने जिले में कई योजनओं का क्रियान्वयन किया है. विभिन्न विकास कार्यो पर करोड़ों का निधि खर्च किया गया है. जिले के सर्वांगीण विकास के लिए राज्य सरकार ने जिले को अतिरिक्त निधी दी है, पृथक विदर्भ के प्रश्न पर पवार ने कहा की, जनता से आवाज उठनी चाहिए. न की कोई राजनितिक लाभ के लिए यह मांग उठाई जाऐ. पृथक विदर्भ के लिए किए गए मतदान में 97 प्रतिशत लोगों ने पृथक विदर्भ की बाजु से मतदान करने की बात बताने पर अजित पवार ने कहां कि, यह कोई अधिकृत मतदान नहीं है जिससे इस बात का पता चले की जनता की मांग यह है. ऐसा कहते हुए उन्होंने पृथक विदर्भ मांग के संदर्भ में अधिक नही कहा.

Advertisement

पेसा कानून के संदर्भ में पवार ने बताया कि, महामहिम राज्यपाल ने 9 जुन 2014 को गडचिरोली जिले में पेसा कानून लागु करने के संदर्भ में अध्यादेश निकाला है. इस के विरोध में गैर आदिवासियों में असंतोष फैला होकर गत कुछ दिनों से जिले में आंदोलन किया जा रहा है. किन्तु यह निर्णय राज्यपाल ने लिया होकर वही इस पर निर्णय ले सकते है. ऐसा भी पवार ने कहा है. गडचिरोली जिले में ओबीसी समाजबंधाओं का आरक्षण पूर्ववत 19 प्रतिशत करने के लिए व ओबीसी पर अन्याय करनेवाले पेसा अध्यादेश रद्द करने के लिए आंदोलन कर रहे है. इस संदर्भ में प्रश्न पुछ ने पर पवार ने किसी पर भी अन्याय नहीं होने देंगे, ऐसा स्पष्ट किया. लेकिन कुछ लोग चुनाव सामने रख समाज-समाज में गैरसमज फैला रहे है, ऐसा उन्होंने कहा. ओबीसी के संदर्भ में मंत्रीमंडल बैठक में चर्चा होकर, उस पर सकारात्मक निर्णय लेने की जानकारी उन्होंने दी. अनेक जिला परिषदों में हुए राष्ट्रवादी-भाजपा युति का क्या होगा, ऐसा पुछने पर अजित पवार ने कहा कि, कुछ स्थानो पर कांग्रेस ने भी अन्य पार्टियो से युति करने की बात कह कर, आगे दोनों पार्टियों ने समंजस की भुमिका लेकर निर्णय ले, ऐसा कहा. इस समय उपस्थित गृहमंत्री आर. आर. पाटिल ने आरक्षण के मुद्दो पर भाजपा सामाजिक दुराचार करने का आरोप किया.

उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने गोंडवाना विद्यापीठ को स्थायी कुलगुरु देणे संबंध उच्च व तंत्र शिक्षण मंत्री राजेश टोपे से चर्चा करने की बात कह कर कृषि महाविद्यालय की इमारत पूरी करने संबंध आदिवासी विकास विभाग के अधिकारियों से बोलने की जानकारी दी. संवाददाता सम्मेलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सुनील तटकरे, विधायक डॉ. नामदेव उसेंडी, पुर्व राज्यमंत्री धर्मरावबाबा आत्राम, जिला परिषद अध्यक्ष भाग्यश्री आत्राम उपस्थित थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement